'गुरु गोरक्षनाथ आयुष विश्वविद्यालय' का शिलान्यास समारोह सुव्यवस्थित ढंग से किया जाए सम्पन्न- मुख्यमंत्री

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गुरु गोरक्षनाथ आयुष विश्वविद्यालय का शिलान्यास समारोह सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न किया जाए। सभी तैयारियां समय से पूरी की जाएं।
 
समारोह में साफ-सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान दिया जाये। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी को कोई भी असुविधा न होने पाये। मुख्यमंत्री ने यह विचार आज जनपद गोरखपुर के भटहट विकासखण्ड के ग्राम पिपरी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा किए जाने वाले गुरु गोरक्षनाथ आयुष विश्वविद्यालय के शिलान्यास की तैयारियों के भौतिक निरीक्षण के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने दर्शक दीर्घा, मुख्य मंच, सेफ हाउस आदि का निरीक्षण कर तैयारियों को देखा। आयुष विश्वविद्यालय निरीक्षण के उपरान्त उन्होंने वहां एकत्र छोटे बच्चों एवं युवाओं से उनकी कुशलक्षेम पूछी।
 
उल्लेखनीय है कि ग्राम पिपरी में 52 एकड़ भूमि में स्थापित होने वाले राज्य के पहले आयुष विश्वविद्यालय में एक ही परिसर में आयुर्वेदिक, यूनानी, होम्योपैथी और योग चिकित्सा की पढ़ाई और उस पर शोध कार्य होगा। इन विधाओं से यहां चिकित्सा भी उपलब्ध रहेगी। प्रदेश के आयुष विधा के 98 कॉलेज इस विश्वविद्यालय से सम्बद्ध होंगे। इस विश्वविद्यालय में आयुष इंस्टीट्यूट व रिसर्च सेंटर भी होगा। विश्वविद्यालय के निर्माण के लिए 299.87 करोड़ रुपये की डी0पी0आर0 कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग ने बनायी है। विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य मार्च, 2023 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन