छोटी कंपनियों के बड़े सपनों के लिये ‘उभरते सितारे फंड’ से मिलेगी अर्थव्यवस्था को रफ्तार

लखनऊ महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलंबन के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मिशन शक्ति फेज-3 का शुभारंभ लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में उतर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ करेंगी। उत्तर प्रदेश में 21 अगस्त से मिशन शक्ति के तीसरे चरण की शुरुआत होने का रही है।

प्रदेश के सभी जिलों में मिशन शक्ति से जुड़े भव्य आयोजन किये जायेंगे। स्वाधीनता के 'अमृत महोत्सव' वर्ष को देखते हुए इस खास मौके पर कोरोनाकाल में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला चिकित्सकों, स्वास्थ्यकर्मियों, महिला स्वयं सहायता समूहों, महिला स्वयंसेवी संगठनों, शिक्षा, महिला सशक्तिकरण आदि के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया जायेगावित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, निर्यात उन्मुख छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों के लिए उभरते सितारे फंड की शुरुआत करेंगी। यह फंड एक्ज़िम बैंक और सिडबी द्वारा संयुक्त रूप से प्रायोजित है। इस संबंध में औपचारिक घोषणा कल लखनऊ में माननीय वित्त मंत्री द्वारा की जाएगी। माननीय वित्त मंत्री ने पिछले साल अपने बजट भाषण में कहा था कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम अर्थव्यवस्था में गति बनाए रखने के लिए महत्त्वपूर्ण हैं।

इनसे लोगों को रोजगार मिलता है, ये नवोन्मेष करते हैं और जोखिम भी उठाते हैं। तदनुसार, इडिया एक्ज़िम बैंक के उभरते सितारे कार्यक्रम (यूएसपी) में ऐसी भारतीय कंपनियों को चिह्नित किया जाता है, जिनमें आने वाले कल की चैंपियन बनने और वैश्विक मांगों के अनुरूप उत्पादन करने की संभावनाएं हैं। इस कार्यक्रम के अंतर्गत उन भारतीय कंपनियों को चिह्नित किया जाता है, जो तकनीकी, उत्पाद या प्रोसेस की दृष्टि से बेहतर स्थिति में हैं। इस कार्यक्रम के अंतर्गत चिह्नित उद्यमों की बाधाओं को का पता लगाकर उन्हें उनकी वृद्धि और निर्यात रणनीतियां बनाने में सहयोग प्रदान किया जाता है। यह सहायता इक्विटी, ऋण तथा तकनीकी सहयोग के रूप में वित्तीय और सलाहकारी सेवाएं, दोनों प्रकार से प्रदान की जाती है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत एक वैकल्पिक निवेश फंड बनाया गया है, जिसे नाम दिया गया है- उभरते सितारे फंड। यह इंडिया एक्ज़िम बैंक और सिडबी द्वारा 40-40 करोड़ रुपये के अंशदान से संयुक्त रूप से प्रायोजित है।

इसके अंतर्गत 100 से अधिक संभावित प्रस्तावों की पाइपलाइन तैयार की गई है। ये कंपनियां जो फार्मा, ऑटो पुर्जे, इंजीनियरिंग सॉल्यूशन, कृषि, सॉफ्टवेयर आदि जैसे विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित हैं। इंडिया एक्ज़िम बैंक ने पात्र कंपनियों को सहयोग प्रदान करने के लिए सिडबी के साथ मिलकर आईआईटी, आईआईएससी बैंगलोर और आईआईएम जैसी शैक्षणिक संस्थाओं सहित देशभर में विभिन्न संस्थाओं के साथ मिलकर काम किया है। शैक्षणिक संस्थाओं और उद्योग का यह सह-संबंध ही इस कार्यक्रम की प्रमुख विशेषता है। चिह्नित किए गए ‘उभरते सितारों’ की वृद्धि में इस पहल की अहम भूमिका होगी। साथ ही, यह कार्यक्रम रोजगार सृजन के अलावा भारत से निर्यातों को बढ़ाने और उनका विविधीकरण करने के साथ-साथ ब्रांड इंडिया को बढ़ाने में भी मददगार होगा। इस मौके पर एक्ज़िम बैंक की उप प्रबंध निदेशक हर्षा बंगारी और सिडबी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एस. रामन तथा भारत सरकार तथा उत्तर प्रदेश के अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहेंगे। साथ ही उद्योग निकाय, उद्यमी तथा सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन