कांग्रेस के श्रमदान और प्रभातफेरी में स्थानीय लोगों का उमड़ा जनसैलाब- कृष्णकांत पाण्डेय


लखनऊ उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर शुरु किये गये ‘‘जय भारत महासम्पर्क अभियान’’ 19, 20 एवं 21 अगस्त, 2021 को प्रदेश के सभी न्याय पंचायतों, सभी ग्राम पंचायतों/वार्डों तक पहुंची कांग्रेस कमेटी। सारे ग्राम पंचायतों और वार्डोे में 75 घंटे तक मौजूद रहें कांग्रेस पार्टी के नेता एवं कार्यकर्तागण एवं लगभग 95 लाख से अधिक लोगों से हुआ सीधा संवाद।

कांग्रेस प्रवक्ता कृष्णकांत पाण्डेय ने बताया कि 19 अगस्त को प्रभात फेरी एवं श्रमदान से शुरु हुआ यह कार्यक्रम जनसंपर्क, युवाओं एवं किसानों की समस्याओं पर चौपाल लगाकर चर्चा, ग्रामीणों के साथ भोजन एवं रात्रि विश्राम का यह क्रम 20 एवं 21 अगस्त को इसी प्रकार चला। इस दौरान हमारे वरिष्ठ नेताओं, राष्ट्रीय सचिव (सह प्रभारी), प्रदेश अध्यक्ष सहित प्रदेश कांग्रेस कमेटी के समस्त पदाधिकारीगण, जिला/शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षगण एवं उनके पदाधिकारी, ब्लाक/वार्ड/न्याय पंचायत अध्यक्ष एवं पदाधिकारियां सहित लगभग 90 हजार कांग्रेसजनों ने प्रदेश के लगभग सभी ग्राम पंचायतों एवं वार्डों तक पहुंचे तथा लोगों से किया सीधा संवाद। प्रदेश प्रवक्ता ने बताया की प्रातः काल की प्रभात फेरी में भारत माता की जय, झंडा ऊंचा रहे हमारा विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी अमर रहें के नारे से गंुजायमान हुआ पूरा उत्तर प्रदेश। उत्साह एवं सक्रियता के साथ प्रदेश की जनता ने दिया भरपूर समर्थन।

जनसंपर्क के दौरान किसानों ने छुट्टा जानवरों की अराजकता से फसलों को नुकसान, फसलों के उपज का उचित मूल्य ना मिलनें, तमाम जगहों पर गन्ना मूल्य भूगतान बहुत देर से होने, डीजल की बड़ी कीमतें आदि समस्याओं से परेशान होने और खेती को घाटे का सौदा बताने का जिक्र किया, लोगों ने कांग्रेस पार्टी से अपनी उपरोक्त समस्याओं से समाधान कराने की मांग की। इसी प्रकार कमर तोड़ मंहगाई तथा आमदनी कम होने की वजह से रसोई गैस की रिफीलिंग ना करवा पाने, बच्चों की फीस ना जमा कर पाने की समस्या भी उठी। युवाओं ने बढ़ती बेरोजगारी के चलते युवाओं में हो रही निराशा का जिक्र करते हुए अपनी समस्याये रखी। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस पाटी द्वारा दिये गये नारे, ‘‘किसान कर्ज माफ बिजली बिल हॉफ छुटटा जानवरों से मिलेगी निजात’’ के माध्यम सें समस्यओं के हल के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की।

प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि शहरों में भ्रमण के दौरान लोगांे ने कमर तोड़ मंहगाई, खाद्य तेल, गैस, डीजल पेट्रोल के बढ़े हुए दामों से आयी जीवन में दुस्वारियों का जिक्र किया। सबसे भयावह स्थिति मुख्यमंत्री के गृह जनपद जहां से वो 5 बार सांसद भी रह चुके है गोरखपुर की रही जब प्रभात फेरी निकालने गये प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, प्रदेश उपाध्यक्ष विश्वविजय सिंह सहित कांग्रेसजनों को सबसे मुश्किल दौर का सामना करना पड़ा जब उन्हें शहर के सबसे मुख्य कालोनियों में 3-4 फुट तक पानी भरा हुआ मिला और घरों में प्रथम तल तक पानी भरा है वहां जाने पर लोगों ने बताया कि निचले तल के लोग अपना मकान छोड़कर महीनों से पलायन कर गये है तथा प्रथम एवं द्वितीय तल के लोग महीनों से नीचे ही नहीं उतरे है। इसी प्रकार के प्रधानमंत्री के संस्दीय क्षेत्र और देश की आध्यात्मिक नगरी वाराणसी को मोदी द्वारा काशी से क्योटो बनाने के क्रम में ऐेसा कर दिया कि आधे से ज्यादा शहरी क्षेत्र बेतरतीब सीवर व्यवस्था के चलते पानी में डूबे है। जिससे आम आदमी का जीवन दुभर हो गया है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर