श्रीकृष्ण के जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं


आत्मतत्व चिंतन लिखूं या प्राणेश्वर परमात्मा लिखूं,
स्थिर चित्त योगी लिखूं या यताति सर्वात्मा लिखूं,
रहोगे तुम फिर भी अपरिभाषित चाहे मै जितना लिखूं,
कृष्ण आप पर क्या लिखूं कितना लिखूं,
रहोगे आप फिर भी अपरिभाषित चाहे मै जितना लिखूं

अखण्ड ब्रह्मांड के नायक, योगीश्वर श्रीकृष्ण-कन्हैया के जन्मदिन जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं !

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर