पीजीटी और टीजीटी की परीक्षा ड्यूटी के भुगतान को लेकर महिला अध्यापिकाओं से की गयी अभद्रता

लखनऊ। पी०जी०टी० और टी०जी०टी० परीक्षा के दौरान ड्यूटी कर रही महिला अध्यापिकाओं से लखनऊ के विभिन्न स्कूलों के प्रबंधकों प्रधानाचार्यों और स्टाफ द्वारा भुगतान को लेकर अभद्रता, मारपीट और गालीगलौज की गयी।
 
मामला यह था कि सुबह ही अध्यापिकाओं से एक रजिस्टर और सादे पन्ने पर बहाने से हस्ताक्षर करवा लिए गए और भुगतान के समय सिर्फ रुपए चार सौ पकड़ा दिए, जब अध्यापिकाओं ने भुगतान की राशि का व्यौरा मांगना चाहा तो उनसे कहा गया कि जो मिल रहा है लेकर निकल जाईए यदि तुम लोगों ने शांति भंग करने की कोशिश की तो पुलिस कार्यवाही की जाएगी, ऐसी जानकारी पीड़ित अध्यापिका द्वारा हाई कोर्ट के अधिवक्ता विजय कुमार पाण्डेय को दी गयी, तब रश्मि दूबे, बीना और रंजना पाण्डेय ने कहा कि प्रतिमीटिंग एक हजार रूपये और पांच सौ रूपये ब्रीफिंग के मिलते हैं। हम बिना पूरा पैसा लिए नहीं जाएंगे, तब उनके साथ अमर्यादित व्यवहार करके अग्रसेन इण्टर कालेज के प्रिंसिपल और स्टाफ द्वारा धक्के मारकर बाहर ढकेल दिया गया और कहा गया कि अगर बाहर कोई भी खड़ा दिखाई देगा तो पिटाई करके खदेड़ा जाएगा।
 
इस प्रकार की घटनाएँ नारी शिक्षा निकेतन और गवर्नमेंट गर्ल्स इण्टर कालेज, इंदिरा नगर में भी हुई। पीड़ित अध्यापिकाओं और अध्यापकों द्वारा घटना का वीडियो बनाकर अपने संगठन से सहयता की अपील भी की गयी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई, तब उन्होंने विरोध स्वरूप ड्यूटी न करने का फैसला किया है। अलीगंज निवासिनी अध्यापिका रंजना पाण्डेय ने बताया कि शिक्षा के मन्दिर में शिक्षकों से शिक्षक द्वारा ऐसा बुरा बर्ताव कल्पना के परे है, हमें काफी सदमा लगा है, हमारे साथ शिक्षक संघ को खड़ा होना चाहिए और हमारे साथ हुए अन्याय की आवाज उठानी चाहिए।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन