01 साल से भी कम समय में हमने इन्वेस्टर समिट की थी- सतीश महाना

लखनऊ हमारे नए राज्य मंत्री धर्मवीर प्रजापति का स्वागत करता हूं इंडस्ट्री डिपार्टमेंट 2017 से पहले चर्चा में नहीं होता था ना सरकार के लिए न समाचार में रहा करता था 2017 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार बनी और सरकार की प्राथमिकताएं सभी क्षेत्रों के लिए थे विशेषकर औद्योगिक विकास के क्षेत्र में हमारे सामने चैलेंज था कि उत्तर प्रदेश एक विशेष क्षेत्र बने एक उद्योगपति ने कहा था मैंने कसम खाई है कि उत्तर प्रदेश में नहीं आऊंगा
 
हमने सबसे पहले कौन सी ऐसी पॉलिसी है जिससे इंडस्ट्रीज हमारी तरफ आकर्षित हो, हमें सभी राज्यों की पॉलिसी को अध्ययन किया और जो जिनमें सुधार और बदलाव की आवश्यकता थी और ऐसे लोगों के साथ कई बार मीटिंग भी करी तब जाकर हमने नई पॉलिसी बनाई। पहले इन्वेस्टर सम्मिट के लिए हमने कई राज्यों में रोड शो किए लोगों को आकर्षित करने के लिए बहुत प्रयास किए ने एक बड़े इंडस्ट्रीज के घर पर जाकर अपने अधिकारियों के साथ बैठक की और उन्होंने कहा कि मुझे ताज्जुब है कि यूपी सरकार के मंत्री अपनी टीम के साथ मेरे घर पर है इसका मतलब अब बदलाव है और यह हमारी शुरुआत रही। बड़े इंडस्ट्रीज प्लॉट रियल इस्टेट के लिए एलाट होते थे। अब हम और योगी के लिए जमीन व्यवस्था कर रहे हैं।
 
आज हमारे पास 10 प्लॉट है तो उस पर 100 लोग एप्लीकेंट्स हम तमाम जिसमें 25 परसेंट कि छूट दी। हमने ई-बिडिंग कर बोली लगाकर प्लाट बेचे 43% एमओयू साइन हुए थे उस पर काम हो गया है। हमने मेडिकल डिवाइस पार्क जेवर एयरपोर्ट के आस इसकी शुरुआत होगी केंद्र सरकार ने इसकी मंजूरी दे दी है पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पूरी तरह जलकर तैयार है जिस दिन केंद्र सरकार में प्रधानमंत्री ने समय दिया उसे भी शुरू कर दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश में एक्सप्रेसवे के नाते देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस वे का नेटवर्क किसी राज्य में नहीं है। यूपीसीडा एक समय में बदनाम सा डिपार्टमेंट था लेकिन आज हमें कहते हो तो चलना होता होती है कि हमने शुरुआत बदलाव किया है आवश्यकता अनुसार इसमें अन्य पॉलिसी बदली।
 
हमने निर्णय किया था कि 5 साल बाद इंडस्ट्रियल का प्लॉट कैंसिल कर देंगे इससे रियल इंडस्ट्रीज के लोग ही हमारे पास आ रहे हैं मुंबई फ्रेट कॉरिडोर और दिल्ली चंडीगढ़ जहां कल मिलते हैं दादरी में हम इंडस्ट्रियल इंटीग्रेटेड टाउनशिप डेडीकेटेड लेटेस्ट खूबसूरत शहर बनाया जाएगा जहां सभी आवश्यकता पूरी की जाएंगी। नोएडा के लोगों का लिविंग स्टेटस काफी ऊपर हुआ है, वहां हम पैकेट फैक्ट्री भी बनाएंगे छोटी इंडस्ट्री के लिए हम वहां उद्योग बना कर देंगे और जो चाहेगा वह से प्लग एंड प्ले छोटे-छोटे इंडस्ट्रीज बना कर देंगे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन