हर वस्तु का सदुपयोग करना सीखना चाहिए


हम सबको भ्रमर की तरह सार ग्रहण करने वाला बनना चाहिए अर्थात हर वस्तु का सदुपयोग करना सीखना चाहिएकुवस्तु का भी सदुपयोग हो सकता है। कलियुग को सब बुरा कहते हैं लेकिन कलि के अनेक दोष होते हुए भी कलि का सबसे बड़ा फायदा यह है कि कलिकाल में भगवत्प्राप्ति सरल है।

अन्य युगों में भगवत्प्राप्ति बहुत कठिनता से होती है लेकिन कलियुग में भगवत्प्राप्ति केवल कीर्तन से होती हैअतः भगवान के गुणों, नामों, लीलाओं को गाते रहिये।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन