श्राद्ध पक्ष में पितरों को पुष्पांजलि


पितर चरण में नतमस्तक रहते हम दिन रात ।
कृपा दृष्टि हम पर करो, सिर पर धर दो हाथ ॥

यह कुटुम्ब है आपका, आप ही का परिवार ।
आशिर्वाद मिले आपका , कि फूले फले संसार ॥

भूल - चूक सब क्षमा कर,करो दया  भरपूर ।
सुख सम्पति से घर भरो,कष्ट करो सब दूर ॥

ध्यान धरें नित आपका,आपकी हम संतान ।
आपके नाम से ही जुड़ी,मेरी हर पहचान ॥

ऋण आपका है हम पर,नहीं चुकाया जाय ।
सात जनम भी कम पड़े,ये वेद पुराण बताय ॥

हर दिन हर पल आपसे,माँगे हम वरदान ।
वंश बेलि बढती रहे,बढ़े मान सम्मान ॥

पन्द्रह दिन इस पक्ष में,करेंगें हम सत्कार!
पूरे वरस वरसे कृपा, इतनी अरज हमार !!

तिल-कुश-जल ,भोजन मिष्ठान,अर्पित करते हम!
देव-गुरू- सब पितर मिल, हरें हमारे गम!!


समस्त पितरों को नमन!

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन