कल्याण सिंह के चित्र पर उपमुख्यमंत्री ने पुष्पांजलि अर्पित की

अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य द्वारा अलीगढ़-रामघाट मार्ग (प्रमुख जिला मार्ग-105) जो, पूर्व मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश एवं पूर्व राज्यपाल हिमांचल प्रदेश एवं राजस्थान स्व0 कल्याण सिंह की जन्मस्थली ग्राम मढ़ौली, तहसील अतरौली होते हुए रामघाट तक जाता है को श्रद्धेय कल्याण सिंह के सम्मान में श्रृद्धांजलि स्वरूप उनके नाम पर नामकरण किये जाने की घोषणा आज की गयी, और उप मुख्यमंत्री ने इस मार्ग को आवश्यकतानुसार सुधार किये जाने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिये।
 
केशव प्रसाद मौर्य आज अलीगढ़ में विभागीय कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि समस्त श्रेणी के मार्गों को शीघ्र से शीघ्र गड्ढामुक्त किया जाय। यह कार्य 15 सितम्बर, 2021 से प्रारम्भ होकर 15 नवम्बर, 2021 तक हर हाल में पूरा करा लिया जाय तथा मरम्मत किये जाने वाले मार्गों की सूची जन-प्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करायी जाय। उन्होंने कहा कि गड्ढामुक्त अभियान को शीर्ष प्राथमिकता के आधार पर पूरा कराया जाय। उन्होंने अलीगढ नगर के पुराने बाईपास मार्ग एटा चुंगी से क्वार्सी चौराहे तथा अन्य मार्गों के चौड़ीकरण किये जाने हेतु आश्वासन दिया।
 
उन्होंने कहा कि एटा चुंगी चौराहे, क्वार्सी चौराहे एवं सारसौल चौराहे पर उपरगामी सेतु बनाये जाने का शीघ्र ही निर्णय लिया जायेगा। उप मुख्यमंत्री ने निर्माणाधीन सभी परियोजनाओं को शीघ्र ही पूरा कराये जाने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिये। उप मुख्यमंत्री मौर्य ने के0एम0वी0 इण्टर कॉलेज अतरौली अलीगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री स्व0 कल्याण सिंह के त्रयोदशी संस्कार में सम्मिलित होकर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की, और कहा कि स्व0 कल्याण सिंह की स्मृतियां व विचार हम सभी को जीवन के हर क्षण में जनसेवा एवं प्रदेश की उन्नति के कार्यों के लिए प्रेरित करती रहेंगी।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन