पहले दिन स्कूल पहुचें बच्चों का स्कूल प्रशासन ने किया स्वागत

सीतापुर। बुधवार सितम्बर माह के पहले दिन विद्यालय खुलने से चारो तरफ बच्चों से रौनक बनी रही। कोरोना काल के बाद यह पहली बार था कि बच्चे स्कूल आते-जाते दिखे। अभिभावको को जहां एक ओर कोराना काल की लहर का आने का भय बना हुआ है, वहीं दूसरी ओर उन्हें अपने-अपने बच्चो के भविष्य की चिंता भी सता रही है।

उनकी माने तो स्कूल द्वारा सहमति लिए जाने के बाद भी उन्हें अपने पाल्य को उनके भविष्य के लिए स्कूल भेजना पड़ रहा है, क्योंकि आॅन लाइन कक्षाए छोटे बच्चो के लिए कारगर साबित होना संभव नहीं है। सुबह से ही जनपद की प्रमुख विद्यालय में कक्षा 1 से छात्र-छात्राओं के स्कूल खुलते ही बच्चों के अभिभावको समेत स्कूल प्रशासन की तैयारियां एक दिन पूर्व से देखी गई। जहां बाजारों में अभिभावक अपने बच्चे के विद्यालय सम्बन्धी स्टेशनरी, पोशाक आदि वस्तुए खरीदते देखे गए, वहीं विद्यालय प्रशासन स्कूल में बच्चों के प्रवेश को लेकर सेनीटाइजेशन, साफ-सफाई और पहली बार स्कूल आने वाले छोटे-छोटे बच्चों की कक्षाओं को खिलौने, गुब्बारे आदि से सजाकर उनका स्वागत किया।

इसी के साथ-साथ बच्चों को प्रथम दिवस पर बिस्कुट, फल आदि देकर उनका हौसला भी बढ़ाया गया। केन्द्रीय विद्यालय सीतापुर में बच्चों का स्वागत बड़ी धूमधाम से किया गया। इस दौरान विद्यालय के प्रधानाचार्य शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा कक्षा एक में प्रवेश पाने वाले बच्चों का स्वागत किया गया और प्रथम दिवस बच्चों को खेल के माध्यम से पढाया व ज्ञानवर्धक बाते बताई गई।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन