सीएम योगी बने शराब माफियाओं का 'काल'

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी शराब माफियाओं के लिए 'काल' बन गए है। प्रदेश में पहली बार करीब 600 शराब माफिया चिह्नित किये गए है। लोगों की जान से खेलने वाले शराब माफिया के सिंडिकेट पर अब वज्रपात कर रही है योगी सरकार।
 
अब तक 3425 मुकदमे दर्ज कर 534 से अधिक शराब माफिया को गिरफ्तार करने के साथ-साथ 11 की कुर्की और 367 पर गैंगेस्टर लगा कर और 101 शराब माफिया की एक अरब 13 करोड़ से अधिक की संपत्ति भी जब्त कर ली गयी है। 162 शराब माफिया पर गुंडा एक्ट, 196 की हिस्ट्रीशीट खोली, दो शस्त्र लाइसेंस निरस्त और 154 को जेल भेज दिया गया है। सीएम योगी ने जहरीली शराब से होने वाली मौतों पर प्रभावी रोक लगाने के लिए देश में पहली बार आबकारी अधिनियम में संशोधन कर फांसी तक की सजा का प्रावधान किया है। पुलिस ने 162 शराब माफिया पर गुंडा एक्ट के तहत कार्यवाही की है।
 
पुलिस ने 196 आरोपियों की हिस्ट्रीशीट खोली, दो शस्त्र लाइसेंस निरस्त किए और 154 आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है। आबकारी विभाग ने 26 अगस्त से 5 सितम्बर तक 2807 मुकदमे दर्ज कर 73,660 लीटर अवैध शराब बरामद की थी। 12 दिन में 1051 आरोपी गिरफ्तार करने के साथ 29 वाहन भी जब्त किये गए है। अलीगढ़ में शराब माफिया की 70 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त कर ली गयी है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन