डाक विभाग द्वारा लम्बित मामलों में त्वरित कार्यवाही के दिये निर्देश

वाराणसी डाक सेवाओं के उपभोक्ताओं की समस्याओं और शिकायतों के त्वरित निस्तारण हेतु वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव की अध्यक्षता में 24 सितम्बर को डाक अदालत का आयोजन क्षेत्रीय कार्यालय में किया गया। इस डाक अदालत हेतु वाराणसी, चंदौली, भदोही, जौनपुर, गाजीपुर, बलिया जिले में डाक सेवाओं से संबंधित समस्याएं या शिकायतें लोगों से 21 सितम्बर तक पूर्ण विवरण के साथ उपलब्ध कराने को कहा गया था। 
 
इसमें सिर्फ वही मामले लिए जा सकते हैं, जिनका मंडल स्तर पर निस्तारण नहीं हुआ हो। इस क्रम में डाक अदालत में कुल 4 लोगों के आवेदन प्राप्त हुए, जिनका निस्तारण किया गया। डाक अदालत में प्रथम मामला पुरुषोत्तम कुमार द्वारा उनके टीडीएस भुगतान से संबंधित था, जो कि 1 सितंबर को फाइल कर दिया गया है। अन्य तीन मामले वाराणसी कैंट प्रधान डाकघर में गबन से संबंधित थे, जिसमें सिद्धार्थ पांडेय, ओम प्रकाश पांडेय व पुष्पा पांडेय के 13 खाते शामिल हैं। इनमें  से 1 खाते का भुगतान हेतु ज्ञापन जारी किया जा चुका है, वहीं 4 खाते रिस्टोरेशन हेतु सेंटर फॉर एक्सेलेंस इन पोस्टल टेक्नोलॉजी, चेन्नई को भेजे जा चुके हैं। 2 खातों में हस्ताक्षर में भिन्नता होने के कारण फोरेंसिक लैब में भेजने के निर्देश दिए गए हैं तथा 6 खातों में भुगतान की स्वीकृति प्रक्रियाधीन है। पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने प्रक्रियाधीन मामलों में त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। डाक अदालत के दौरान सहायक निदेशक (सतर्कता) राममिलन, जाँच निरीक्षक श्रीकान्त पाल तथा कार्यालय सहायक अजिता कुमारी ने समन्वय एवं सहयोग किया।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन