'भारतीय खाद्य निगम' द्वारा पोषण माह का किया जा रहा है आयोजन

लखनऊ| भारतीय खाद्य निगम क्षेत्रीय कार्यालय, लखनऊ द्वारा सितम्बर माह में चतुर्थ राष्ट्रीय पोषण माह का आयोजन किया जा रहा है| पोषण माह का शुभारम्भ करते हुए  रजत शर्मा महाप्रबंधक (क्षेत्र) ने मानव स्वास्थ्य में संतुलित आहार की भूमिका पर जोर देते हुए संतुलित व पौष्टिक आहार गृहण करने हेतु कहा| उन्होंने बताया कि पोषण अभियान सिर्फ एक कार्यक्रम न  होकर एक जन आन्दोलन और भागीदारी है|

उन्होंने कर्मचारियों से पोषण माह को सफल बनाने के लिए अपने सुझाव देने को प्रोत्साहित किया, जिसके फलस्वरूप कर्मचारियों ने कई रोचक एवं प्रभावशाली सुझाव प्रस्तुत किये| जग प्रसाद, उपमहाप्रबंधक(क्षेत्र) ने अपने उदबोधन में प्रतिरक्षा बढ़ाने में औषधीय पौधों और पोषक तत्त्वों के महत्त्व को रेखांकित किया। उन्होंने बताया कि पोषण का मतलब केवल आहार लेने भर से नहीं है, बल्कि शरीर को लवण,विटामिन आदि जैसे आवश्यक पोषक तत्व भी उपलब्ध कराने से है। उन्होंने पोषण से युक्त जीवनशैली को अपनाने तथा सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से इसका प्रचार प्रसार करने को कहा| रमेश कुमार गौतम, उपमहाप्रबंधक (गुण नियंत्रण) ने पोषण माह के दौरान होने वाले कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिताओं से सबको अवगत कराया तथा अधिकारियों एवं कर्मचारियों से अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर पोषण माह को सफल बनाने की अपील की|

कार्यक्रम के दौरान विपिन त्यागी उपमहाप्रबंधक(संविदा) उपस्थित रहे| 01 सितम्बर से 30 सितम्बर, 2021 तक चलने वाले राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान भारतीय खाद्य निगम, क्षेत्रीय कार्यालय लखनऊ समेत भारतीय खाद्य निगम, उत्तर प्रदेश के सभी मंडल कार्यालयों में पोषण वाटिका विषय के अंतर्गत पौधारोपण कार्यक्रम, योग का महत्त्व विषय पर व्याख्यान एवं योगाभ्यास सत्र, कुकिंग रेसिपी प्रतियोगिता, वंचित एवं कुपोषित बच्चों व महिलाओं में पोषण सामग्री का वितरण, बाजरा तथा आहार विविधीकरण विषय पर वेबिनार,ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी /पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा| 30 सितम्बर को पोषण माह समापन-सह-पुरुस्कार वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा|

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन