आत्मा अमर है, आत्मा मरती नहीं

 
आत्मा अमर है, आत्मा नहीं मरती हिन्दू पूर्व जन्म में विश्वास करते हैं हमारे यहाँ तीन शरीर माने जाते हैं स्थूल शरीर, सूक्ष्म शरीर और कारण शरीर। जीव एक शरीर छोड़ने के बाद अपने कर्मानुसार जो प्रारब्ध उसने निर्माण किया है, उसको भोगने के लिए दूसरे शरीर में चला जाता है। स्थूल शरीर छूट जाता है सूक्ष्म शरीर और कारण शरीर को लेकर प्रारब्ध के अनुसार नया स्थूल शरीर धारण करता है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन