हिंदी पूरे देश को जोड़ने वाली भाषा- पोस्टमास्टर जनरल

वाराणसी। डाक विभाग द्वारा क्षेत्रीय कार्यालय, वाराणसी में  'हिन्दी पखवाड़ा' का शुभारम्भ 14 सितम्बर को हुआ। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल, कृष्ण कुमार यादव ने माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर इसका शुभारंभ किया। भारत सरकार के गृह मंत्री एवं सचिव, डाक विभाग का संदेश पढ़कर लोगों को हिंदी के प्रति प्रेरित किया गया।

इस अवसर पर  पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने अपनेे सम्बोधन में कहा कि हिंदी पूरे देश को जोड़ने वाली भाषा है और सरकारी कामकाज में भी इसे बहुतायत में अपनाया जाना चाहिये। हिन्दी हमारी मातृभाषा के साथ-साथ राजभाषा भी है, ऐसे में हम सभी को रोजमर्रा के सरकारी कार्यों में हिन्दी भाषा का प्रयोग करते हुए लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करना चाहिए। यादव ने कहा कि, हिन्दी एकमात्र ऐसी भाषा है, जो जैसे लिखी जाती है वैसे ही पढ़ी और बोली जाती है। हिन्दी पखवाड़ा के दौरान डाक विभाग द्वारा मनाये जाने वाले कार्यक्रमों में ज्यादा से ज्यादा डाककर्मियों से भागीदारी की भी अपील की। 

सहायक निदेशक (राजभाषा) राम मिलन ने इस अवसर पर डाक विभाग के सचिव विनीत पाण्डेय का संदेश पढ़ा, जिसमें उनके द्वारा इस बात पर जोर दिया गया कि डाक विभाग को अपनी नीतियों, योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ जन-जन तक पहुँचाने और इनके प्रभावी प्रसार - प्रचार एवं क्रियान्वयन के लिये राजभाषा हिन्दी के प्रयोग को और अधिक बढ़ाना होगा जो आज की एक बड़ी अनिवार्यता बन गई है। क्षेत्रीय कार्यालय में पखवाड़े भर चलने वाले कार्यक्रमों के बारे में भी जानकारी दी गई। इस दौरान निबंध लेखन, हिन्दी टंकण, हिन्दी काव्य पाठ, हिन्दी टिप्पण एवं आलेखन,पत्र लेखन, हिंदी श्रुतलेखन जैसी तमाम प्रतियोगितायें आयोजित की जाएँगी।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर