समाजवादी व्यापार सभा का लखनऊ मंडल का मंडलीय सम्मेलन हुआ संपन्न

लखनऊ समाजवादी व्यापार सभा का लखनऊ मंडल का मंडलीय सम्मेलन कानपुर-हरदोई रोड बाईपास, बुधेश्वर चौराहा स्थित डी डी लॉन में संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजवादी व्यापार सभा के प्रदेश अध्यक्ष, विधायक एवं पूर्व मंत्री संजय गर्ग रहे। कार्यक्रम में प्रदेश प्रवक्ता, उपाध्यक्ष, मण्डल प्रभारी पवन मनोचा, प्रदेश सचिव सोनू कनोजिया ने विचार रखे।

उद्घाटन नगर अध्यक्ष सुशील दीक्षित एवं ज़िला अध्यक्ष जयसिंह जयंत ने दीप जलाकर किया। सम्मेलन का संचालन प्रदेश कोषाध्यक्ष अंशुल गुप्ता ने किया। सम्मेलन में व्यापारियों ने 2022 के विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने का संकल्प लिया। व्यापार सभा प्रदेश अध्यक्ष मुख्य अतिथि संजय गर्ग ने कहा कि भाजपा की सरकार का व्यापारियों के प्रति रवैया बहुत ही संवेदनहीन है, उनके सभी फ़ैसले नोटबंदी, विसंगतिपूर्ण जीएसटी और कोरोना काल में लॉक डाउन के दौरान का बिजली के फ़िक्स चार्जेज़ माफ़ न करने पर विरोध दर्ज कराया। प्रदेश उपाध्यक्ष पवन मनोचा ने कहा कई बार लिखने के बाद आज भी जीएसटी काउंसिल ऑटो रिफंड की सुविधा व्यापारी को नहीं दे पाई है, जबकि पूरे देश के व्यापारियों का हज़ारों करोड़ रुपया रिफंड में फँसा हुआ है।

डिजिटल की बात लागू जीएसटी वेबसाइट तीन साल बाद भी अधिक लोड होने पर बैठ जाती है। दुर्घटना बीमा में करोना से हुई थी मृत्यु को शामिल कर व्यापारी को लाभ देना चाहिए था, जो नही दिया जा रहा है। इतनी बैठकों के बाद जी एस टी काउंसिल एक उत्पाद एक कर की दर नहीं कर पाई है। सम्मेलन में साइकिल, इलेक्ट्रॉनिक्स, सर्राफ़ा, टिम्बर, स्टेशनरी, मोबाइल, एमरा, रोटरी क्लब कई ट्रेडों के व्यापार मण्डल के व्यापारी नेताओ ने समाजवादी पार्टी घोषणा पत्र में शामिल करने के लिए सुझाव पत्र दिए। लखनऊ एवं अन्य शहरो के प्रमुख व्यापारी नेताओं को व्यापारी रत्न भामाशाह सम्मान से नवाजा गया। सम्मेलन की अध्यक्षता गोमती नगर व्यापार मण्डल के अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद दुबे, अंबर नाका बाज़ार के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह  ने किया। 

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन