विधानसभा चुनावों में वोट की चोरी न करने देने के लिए कृत संकल्प है सपा- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकतंत्र में सबसे बड़ी ताकत जनता की होती है। वोट की ताकत से ही सरकारें बनती है। भाजपा का लोकतांत्रिक व्यवस्था की निष्पक्षता में विश्वास नहीं है। वह अपनी कुटिल चालों और षड़यंत्रों के जरिए सत्ता पर कब्जा जमाने की तिकड़में करती रही है। जनता सन्2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा को वोट की चोरी न करने देने के लिए कृत संकल्प है। लोकतंत्र पर भाजपा की काली छाई अब नहीं पड़ सकेगी।

भाजपा राज में चारों तरफ अराजकता का माहौल है। अपराधों के कारण छात्राओं-महिलाओं का जीवन सांसत में है। नौजवानों का भविष्य अंधकार में धकेल दिया गया है। विकासकार्य पूरी तरह अवरूद्ध है। किसान अपने हक की निर्णायक लड़ाई लड़ रहे हैं। इसमें सैकड़ों किसान अपनी जान भी गंवा चुके हैं। आज भी उनके हौंसले बुलंद है। भाजपा सरकार उनकी मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है, इससे खुद भाजपा सांसद और विधायक किरकिरी हो रही हैं। भाजपा सरकार अब तक गिनाने लायक एक भी योजना बता सकने की स्थिति में नहीं है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे कम समय में पूरी गुणवत्ता से बना जहां युद्धक विमान भी उतर सके। भाजपा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भी नहीं बना सकी। एम्स की स्थापना हो या मेडिकल कॉलेजों की स्थापना समाजवादी सरकार के कार्यों के मुकाबले भाजपा का काम शून्य रहा है। भाजपा राज में बिजली-पानी सड़क की समस्याएं बिगड़ती गई हैं।

दिन पर दिन उत्तर प्रदेश के राजनीतिक आर्थिक हालात बिगड़ते जा रहे हैं। तमाम दावों के बावजूद न तो रोजगार की स्थिति में सुधार है और नहीं पूंजी निवेश की खबर है। भाजपा सरकार यह बताने में संकोच क्यों करती है कि उसके शासनकाल में किस क्षेत्र में कहां-कितना रोजगार दिया गया है। अगर रोजगार दिया होता तो लॉकडाउन के दौर में यूपी आए कामगार वापस क्यों चले गए? भाजपा यह क्या समझती है कि उसकी कुचालों को जनता समझेगी नहीं, उसके बहकावे में आ जाएगी। झूठ के हथियार से वह कब तक सच्चाई का गला घोटती रहेगी? विधानसभा के चुनाव सिर पर हैं समाजवादी पार्टी इसमें अपने कामों और जनता के भरोसे पर मैदान में उतरेगी। जनता के दृढ़ निश्चय से ही लोकतंत्र बच सकेगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

अनेक बातें जो हम समझ नहीं पाते

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन