बी0के0टी0 तहसील में सम्पूर्ण समाधान दिवस का किया गया आयोजन

लखनऊ। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश की अध्यक्षता में बी0के0टी में सम्पूर्ण समाधान दिवस के साथ कोविड-19 के प्रोटोकाल का अनुपालन व गुणवत्ता सुनिश्चित कराने के साथ सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। तहसील दिवस में सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वह समस्या का स्थलीय निरीक्षण कर समस्याओं का गहनता से परीक्षण करते हुए समस्या का प्रभावी तरीके से निराकरण कराना सुनिश्चित करें। 
 
तहसील दिवस में राजस्व सम्बन्धी समस्या, प्रधानमंत्री आवास, अवैध कब्जा, चक मार्ग और बिजली विभाग की लापरवाही सम्बन्धित पत्र मिलें। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि तहसील दिवस में प्राप्त समस्याओं को संवेदनशील व गम्भीर होकर गुणवत्तापूर्वक निस्तारण करें। आज के तहसील दिवस में शासन के मंशानुरूप 15 दिन में बुधाना (बरगदी मगद) ऊषा पाण्डेय (चांदपुर खानीपुर) विमला (रूदही) के नाम पर वरासत कराके जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश द्वारा वरासत की खतौनी आदि उपलब्ध कराये गयें। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद की पांचों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस आयोजित किये गये तथा आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवसों में कुल 396 प्रकरण प्राप्त हुये जिसमें से 04 प्रकरणों का निस्तारण मौके पर ही कर दिया गया।
 
शेष प्रकरणों को निस्तारण हेतु सम्बन्धित विभागों को इस निर्देश के साथ उपलब्ध करा दिये गये कि उनका निस्तारण एक सप्ताह में सुनिश्चित करा दिया जायें। आज के सम्पूर्ण समाधान दिवस में तहसील सदर में 29 प्रकरण प्राप्त हुये 00 प्रकरण का निस्तारण, तहसील मलिहाबाद में 107 में से 02 प्रकरण का निस्तारण, तहसील बी0के0टी0 में 136 मे से 02 प्रकरण का निस्तारण, तहसील मोहनलालगंज में 46 में से 00 प्रकरण का निस्तारण तथा तहसील सरोजनीनगर में 78 में से 00 प्रकरण का निस्तारण किया गया शेष प्रकरणों को समयबद्ध निस्तारण हेतु सम्बन्धित विभागों को उपलब्ध करा दिये गये। आज के सम्पूर्ण समाधान दिवस में पुलिस 67, राजस्व एवं पुलिस संयुक्त 00, राजस्व 149, विकास 65, शिक्षा 00, समाज कल्याण 08, चिकित्सा 02 तथा अन्य 101 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर