शूटिंग के दौरान वैनिटी अटेंडेंट की मौत के मामले पर "AICWA" ने लिया संज्ञान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के राजाजीपुरम परी क्षेत्र में सेंट जेम्स मिशन स्कूल में फिल्म "कंजूस मक्खीचूस" जिसकी शूटिंग राजाजीपुरम के ई ब्लॉक मार्केट में चल रही थी, की शूटिंग के दौरान "शूटिंग बेस" पर फिल्म के प्रोडक्शन यूनिट की घोर लापरवाही के चलते शूटिंग बेस पर फिल्म के *"वैनिटी अटेंडेंट अमित दीक्षित"* की करंट लगने से हुई दर्दनाक मौत के मामले में *"ऑल इंडिया सिने वर्कर्स एसोसिएशन*" ने संज्ञान लेते हुए कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है और महाराष्ट्र के सांस्कृतिक मंत्री अमित देशमुख को एक पत्र लिखा है जिसमें शूटिंग के सेट पर बरती गई घोर लापरवाही के चलते अमित दीक्षित की हुई मौत के मामले को गंभीरता से लेते हुए मृतक के परिवार को उचित मुआवजा दिए जाने एवं दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग करी गयी है।
 
आपको यह भी बताते चलें की इस शूटिंग के सेट पर जब पत्रकार पवन त्रिपाठी इस मामले की कवरेज करने के लिए पहुंचे,तो शूटिंग की प्रोडक्शन टीम और व्यापार मंडल के कुछ नेताओं के द्वारा अनुचित रुप से पत्रकार पवन त्रिपाठी का घेराव करके सिर्फ उन्हें मामले की कवरेज करने से ही नहीं रोका गया बल्कि उनसे अभद्र व्यवहार भी किया गया था और उन्हें भीड़ तंत्र का शिकार बनाने के लिए भी कोशिश करी गई, परंतु पत्रकार पवन त्रिपाठी किसी तरह से वहां से बच निकले उसके उपरांत शूटिंग के प्रोडक्शन टीम ने पत्रकार द्वारा व्यापार मंडल के पदाधिकारियों के द्वारा लगवाए गए वैक्सिनेशन कैम्प में अनियमितताओं की खबर चलाये जाने से नाराज व्यापार मंडल के कुछ पदाधिकारियों के साथ मिलकर थाना तालकटोरा की पुलिस को मौके पर बुलाकर और भीड़ एकत्र करके पत्रकार पवन त्रिपाठी को कूटरचित फर्जी मामले में फंसाने के लिए भी थाना तालकटोरा की पुलिस पर दबाव बनाया गया, परंतु थाना तालकटोरा की पुलिस की सूझबूझ के चलते उनकी ये साजिश कामयाब नही हो सकी।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन