अखिलेश यादव ने समाजवादी विजय यात्रा से विधानसभा चुनाव अभियान की घोषणा की


लखनऊ अखिलेश यादव ने 12 अक्टूबर 2021 से समाजवादी विजय यात्रा से विधानसभा चुनाव अभियान की शुरुआत की घोषणा कर दी। चुनाव अभियान के पहले चरण में वे रथ से कानपुर से हमीरपुर के लिए निकलेंगे। इतिहास गवाह है कि जब-जब समाजवादी रथ चला है विजय पीछे-पीछे चली है और हर बार समाजवादी पार्टी की सरकार बनी है।

समाजवादी विजय यात्रा रथ पर सवारी के पश्चात बड़ी संख्या में एकत्र कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार में कानून जीप के टायरो के नीचे रौंदा जा रहा है। उसने किसान को कुचला, कानून को कुचला अब संविधान को कुचलने की तैयारी है। उत्तर प्रदेश में जंगलराज है। सरकार न्याय में भी भेदभाव कर रही है। यादव ने कहा कि लखीमपुर कांड के पीड़ित परिवारों से मुलाकात में सभी परिवारीजनों ने कहा कि उन्हें इंसाफ चाहिए और दोषियों को सख्त सजा मिले। सबने देखा कि किसानों को गाड़ियां कुचलती गई हैं। सरकार अभी भी सो रही है। गृहराज्य मंत्री धमकी दे रहे हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि जब तक गृहराज्य मंत्री पद पर बने रहेंगे तब तक लखीमपुर के पीड़ितों को न्याय नहीं मिलेगा। बस सुप्रीम कोर्ट के न्याय पर भरोसा है। भाजपा सरकार गरीब को कुचलने के लिए है। सरकार की जिम्मेदारी है कि लोगों को न्याय मिले, दोषी सजा पाएं किन्तु उत्तर प्रदेश में सरकार ‘ठोको‘ का निर्देश देती है। अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है। यहां सबसे ज्यादा पुलिस हिरासत में मौतें हुई है और फेक एनकाउंटर हुए है।

मानवाधिकार आयोग कई बार भाजपा सरकार को नोटिसे जारी कर चुका है। भाजपा सरकार ने जनहित की कोई योजना नहीं चलाई सिर्फ समाजवादी पार्टी के कामों को ही अपना बताती आई है। यादव ने कहा कि आज प्रदेश के किसान को न तो फसल का लाभप्रद मूल्य मिला और नहीं भाजपा के वादे के मुताबिक उसकी आय दुगनी हुई। किसानों के साथ धोखा किया गया। नौजवानों को रोजगार नहीं मिला। 2 करोड़ नौकरियों का प्रलोभन दिया गया था। वह भी पूरा नहीं हुआ। बेरोजगार नौजवान मारे-मारे फिर रहे हैं। महिलाएं और बच्चियां अपमानित और दुष्कर्म की शिकार हो रही हैं।यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने जातीय जनगणना की मांग इसलिए उठाई है क्योंकि इससे सानुपातिक प्रतिनिधित्व की मांग पूरी होगी। सामाजिक न्याय की अवधारणा को तभी साकार किया जा सकेगा। भाजपा ने नफरत फैलाने और आपस में एक दूसरे के बीच दूरी बढ़ाने का काम किया है। लोग त्रस्त हैं और भाजपा से छुटकारा चाहते हैं। यादव ने कहा कि भाजपा राज में बिजली महंगी हो गई है। जो पावर प्लांट समाजवादी सरकार के समय लगे वे भी बंद होते जा रहे है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की गुण से समझौता किया गया है जो मानक समाजवादी सरकार में तय हुए थे उन्हें भी लागू नहीं किया गया।

स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं, लोगों को समय से सही इलाज नहीं मिल पा रहा है। अस्पतालों में मरीज बेकदरी के षिकार हैं। डाॅक्टरों के पद खाली पड़े हैं। उपचार के अभाव में मौतें हो रही हैं। मुफ्त इलाज और दवाइयों के दावे सिर्फ दिखावे के लिए हैं। यादव ने कहा कि हमें भाजपा की चालों से सावधान रहना है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आव्हान किया कि वे गांव-गांव, घर-घर जाकर भाजपा के झूठ का पर्दाफाश करें, उनकी वादाखिलाफी के बारे में लोगों को बताएं। साथ ही, वे समाजवादी सरकार द्वारा जनहित में किए गए विकासकार्यों से भी अवगत कराये। भाजपा ने जनता के साथ जो धोखा किया है उससे लोगों में भारी नाराजगी है। लोग भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए आतुर हैं। अब भाजपा सरकार के गिने चुने दिन रह गए है। भाजपा को बर्दाश्त करने के लिए कोई तैयार नहीं है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन