गुरुद्वारा नाका हिन्डोला में सुखमनी साहिब सेवा सोसाइटी का स्वर्ण जयन्ती समारोह हुआ आरम्भ

लखनऊ। श्री सुखमनी साहिब सेवा सोसाइटी का स्वर्ण जयन्ती समारोह आरम्भ हुआ। श्री सुखमनी साहिब सेवा सोसाइटी का स्वर्ण जयन्ती समारोह आज प्रातः 6.00 बजे श्री सुखमनी साहिब के सामूहिक पाठ के साथ श्री गुरु सिंह सभा ऐतिहासिक गुरुद्वारा नाका हिन्डोला लखनऊ में प्रारम्भ हुआ। सदस्यों द्वारा सामूहिक कीर्तन के पश्चात 71वें सहज पाठ की सबने मिलकर समाप्ति की और सदस्यों को इनाम दिए गये।
 
दरबार साहिब श्री अमृतसर के हजूरी रागी भाई सुरिन्दर सिंह ने "करन बंदगी विरले बन्दे "और "अमृत की सार सोई जाने जो अमृत का वापारी जीओ" गायन कर सत्संगी जनों को मंत्रमुग्ध कर दिया। बिधिचन्द सम्प्रदा के बाबा बंता सिंह जी ने श्री गुरू नानक देव जी के "ज्योति जोत समाना" पर कथा कर जनसमूह को भाव विभोर कर दिया। रागी जत्था भाई राजिन्दर सिंह ने नाम सिमरन कराया और के. के. एन. एस.गुरमति संगीत अकेडमी के बच्चों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। समाप्ति पर गुरू का लंगर समान रुप से वितरित किया गया। कल के मुख्य समारोह में अजन्ता अस्पताल के 6 वरिष्ठ डाक्टर विभिन्न विधाओं में निःशुल्क परामर्श प्रदान करेंगे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन