भारतीय सांस्कृतिक महोत्सव में दिखेगी देश की कला संस्कृति



लखनऊ : भारतीय सांस्कृतिक महोत्सव का शुभारम्भ 17 अक्टूबर 2021 को किया जायेगा। रेनबो सेवा ट्रस्ट की ओर से 15 दिवसीय महोत्सव में भारत की कला संस्कृति देखने को मिलेगी। शुक्रवार को प्रेस क्लब में आयोजित प्रेसवार्ता में ट्रस्ट के अध्यक्ष राजेश राज गुप्ता ने बताया कि  ट्रस्ट एक उत्कृष्ट समाजसेवी संस्था है। वन  डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट को बढ़ावा देने,  भारत में लुप्त हो रही कला संस्कृति को बचाने और विभिन्न राज्यों की हस्तशिल्प कला को प्रोत्साहन के लिए 17 अक्टूबर 2021 से 01 नवंबर 2021 तक ये महोत्सव लगाया जा रहा है। 

17.10.2021 को शाम 6 बजे महापौर संयुंक्ता भाटिया महोत्सव का शुभारंभ करेंगी । ये महोत्सव झूलेलाल वाटिका निकट हनुमान सेतु मन्दिर में आयोजित किया जा रहा है। महोत्सव की थीम महिला सशक्तिकरण और आत्मनिर्भर भारत है।।इसके अंतर्गत ग्रामीण एवं शहरी विकास हम कहा है और कहां जाना है, पर्यावरण सुरक्षा समस्या व समाधान,महिला सुरक्षा एवं  सशक्तिकरण बाल विकास बेटी पढ़ाओं बेटी बचाओं, ज्वलंत समस्यायें कैसे हो परिवर्तन दिशा दशा एवं नज़ारें, शिक्षा स्वास्थ्य एवं खेल समाजिक प्रगति के आधार स्तम्भ, जनसंख्या वृद्धि, भिक्षावृत्ति, वेष्यावृत्ति रोकना कैसे कहां क्या, कृषि और ग्रामोद्योग, उ0प्र0 के पौराणिक धर्मस्थलों नदियों तालाबों कुओं को विकसित व पूर्नजीवित करना, विकलांग, विधवा वृद्ध महिलायें एवं पुरूषों को आत्मनिर्भर और आत्मसम्मान दिलाने का प्रयास करना उ0प्र0 व देश की लुप्त हो रही कलाओं एवं संस्कृति का संरक्षण एवं संवर्धन के कार्यक्रम होंगे । इसके साथ खेल खो-खो, रेसलिंग अन्य प्रतियोगितायें भी महोत्सव में होंगी।  इस महोत्सव में बाल रत्न सम्मान, महिला सम्मान, लखनऊ रत्न सम्मान एवं अन्य सम्मानों से सम्मानित किया जायेगा।

 भारतीय सांस्कृतिक महोत्सव में ’क्लीन यू0पी0, ग्रीन यू0पी0’’ के तहत वृक्षारोपण, पर्यावरण संरक्षण, स्वास्थ्य, स्वच्छता के कार्यक्रम होंगे।  इसके अलावा शिक्षा युवक एवं युवतियों के अन्दर आत्मविश्वास जागाना एवं उनके अन्दर छिपी हुई प्रतिभा को प्रतियोगिता के माध्यम से उजागर करना और उन्हें आगे बढ़ाना है। ग्रामीण अंचलों में शहरी क्षेत्रों के निराश्रित एवं गरीब युवा पीढ़ी को जागृत करके पर्यावरण संरक्षण, हैण्डलूम्स, हैण्डीक्राफ्ट, खादी ग्रामोद्योग, नाबार्ड, स्वयं सहायता समूह, कृषि विविधीकरण, खाद्य प्रसंस्करण, महिला सशक्तिकरण, सर्वशिक्षा अभियान, एड्स, जनसंख्या वृद्धि, ग्रामीण विकास, कन्या भ्रूण हत्या, जल संरक्षण, स्वास्थ्य शिक्षा, ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन, बाल विकास, मद्य निषेध, नशा-उन्मूलन, मत्स्य पालन, दुग्ध उत्पादन, वृद्धा, विधवा, विकलांग कल्याण को बढ़ावा देना, वेश्यावृत्ति, भिक्षा वृत्ति को रोकने, कृषि, रोजगार, खेल को बढ़ावा देने, देश की एकता अखण्डता जैसे ज्वलन्त विषयांे प्रदेश सरकार द्वारा चलाये जा रहे जन कल्याणकारी, लोक-कल्याणकारी, विकास-कलयाणकारी योजनाओं के प्रति युवा पीढ़ी को जागृत करके जन-जागरण अभियान से जोड़ना साथ ही साथ सरकारी गैर-सरकारी संस्थाओं को एक मंच पर लाकर उत्तर प्रदेश को रोजगार व स्वरोजगार के प्रति लोगों को जागरूक करना, महिलाओं के सामाजिक उत्थान में भागीदारी सुनिश्चित करना जिससे उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश के रूप में विकसित करने में एवं सरकार के कार्यों एवं उपलब्धियों को महोत्सव के माध्यम से जन साधारण तक पहुंचाने का पूर्ण प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि बताया पर्यावरण, स्वच्छता, कृषि, स्वास्थ, कला संस्कृति , सामाजिक सेवा एवं अन्य विभिन्न क्षेत्रों में समाजहित में अग्रणि भूमिका निभाने वाले व्यक्तियों, संस्थाओं, कर्मचारियों, अधिकारियों को यू0पी0 रत्न 2017 से सम्मानित किया जायेगा। लखनऊ वासियों को बहुरंगी स्टाल प्रदर्शनी झूलों व सांस्कृतिक कार्यक्रमों (भोजपुरी, अवधी, बुंदेलखण्डी, ब्रज, राजस्थानी, पंजाबी, उत्तराखण्डी का लोक नृत्य एवं लोक गायन) कवि सम्मेलन मुशायरा, राक बैण्ड, स्टार नाइट, नाटक मंचन कामेडी नाइट, मैजिक एवं कठपुतली के माध्यम से स्वस्थ मनोरंजन देने का पूर्ण प्रयास किया जायेगा इस मौके पर ट्रस्ट की महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष सुमति राज गुप्ता, ट्रस्ट के सचिव सिद्धार्थ दुबे, सांस्कृतिक कार्यक्रम की अध्यक्ष जिज्ञासा गुप्ता सहित ट्रस्ट की सदस्य सदस्य सोनल सहित  ट्रस्ट के सभी पदाधिकारी मौजूद रहें। 

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन