उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र का किया उद्घाटन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने आज यहां महानगर, गोल मार्केट स्थित शगुन मेडिकल हाल पर प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि माननीय प्रधानमंत्री ने एक व्यापक दृष्टिकोण रखते हुए शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि तथा सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया है। प्रधानमंत्री ने जन औषधि केंद्र के माध्यम से पूरे देश में लोगों को सस्ती दरों पर गुणवत्तापरक दवा मुहैया कराने का कार्य किया है।


उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में जो सबसे बड़ा क्रांतिकारी कदम उठाया गया, वह आयुष्मान भारत के अंतर्गत आयुष्मान कार्ड धारक को 05 लाख रुपए तक का बीमा कवर प्रदान किया गया। जिससे कार्ड धारक के बीमार होने की दशा में 05 लाख तक का इलाज खर्च सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में माननीय प्रधानमंत्री ने अभूतपूर्व कार्य किया है और कोरोना काल में पूरे भारतवर्ष में एक लंबी लड़ाई लड़ी गई। देश में नए चिकित्सालय एवं ऐम्स का निर्माण हो रहा है। धारा 370 को समाप्त किया गया। शिक्षा में नई शिक्षा नीति लाई गई, सुरक्षा के क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के लड़ाकू विमानों से लेकर मिसाइल तक भारत में बन रही है।


उन्होंने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने कोरोना के खिलाफ एक उत्कृष्ट प्रबंधन किया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस जब प्रदेश में प्रारंभ हुआ तो यहां पर उसके जांच तक की व्यवस्था नहीं थी आज प्रदेश में लगभग सभी जिलों में वेंटिलेटर और ऑक्सीजन युक्त बेड्स उपलब्ध है। आज प्रदेश में 33 मेडिकल कॉलेज क्रियाशील होने की स्थिति में पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है प्रदेश की सभी 75 जनपद में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज अवश्य हो। कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत प्रदेश के गांव गांव में मुफ्त कोरोना किट बांटी गई। प्रदेश सरकार द्वारा तेजी से मुफ्त जांच एवं टीकाकरण का कार्य कराया जा रहा है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन