'राष्ट्रीय डाक सप्ताह' के तहत मनाया गया डाक जीवन बीमा दिवस, पोस्टमास्टर जनरल ने वितरित किये पॉलिसी बांड

वाराणसी डाक विभाग, जीवन बीमा के क्षेत्र में भी एक लम्बे समय से कार्यरत है। 1 फरवरी 1884 को आरंभ 'डाक जीवन बीमा' भारत में सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के लिए सबसे पुरानी बीमा योजना है, जिसका लाभ अब निजी क्षेत्र के प्रोफेशनल्स भी उठा सकते हैं। उक्त उद्गार वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने 'राष्ट्रीय डाक सप्ताह' के अंतर्गत 'डाक जीवन बीमा दिवस' पर व्यक्त किये।
 
क्षेत्रीय कार्यालय वाराणसी में आयोजित सम्मान समारोह में ‘फील्ड ऑफिसर’ श्रेणी में पूरे उत्तर प्रदेश में वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु आर.बी.मौर्या एवं बी.बी. मिश्रा को क्रमशः प्रथम व तृतीय स्थान प्राप्त होने पर पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने चीफ पोस्टमास्टर जनरल उत्तर प्रदेश की तरफ से प्रमाण पत्र व नकद राशि प्रदान कर सम्मानित किया। डाक जीवन बीमा दिवस के अवसर पर वाराणसी परिक्षेत्र के अधीन 6 जनपदों के 62 स्थानों पर आयोजित मेले में 2500 से ज्यादा लोगों ने डाक जीवन बीमा और ग्रामीण डाक जीवन बीमा पॉलिसी ली और बीमाधारकों को पॉलिसी बांड सौंपकर उनके सुखी भविष्य की कामना की गई।

पोस्टमास्टर जनरल ने कहा कि बीमा के क्षेत्र में भी डाक विभाग नित नये आयाम स्थापित कर रहा है। डाकघरों में लोगों की आयु और आवश्यकता के हिसाब से जीवन बीमा की तमाम योजनायें हैं, जिनमें सुरक्षा, संतोष, सुविधा, युगल सुरक्षा, सुमंगल व चिल्ड्रेन पालिसी शामिल हैं। वाराणसी परिक्षेत्र में डाक जीवन बीमा और ग्रामीण डाक जीवन बीमा में वर्तमान में कुल 1.38 लाख  से ज्यादा पॉलिसियाँ संचालित हैं। कोरोना महामारी के दौर में इस वित्तीय वर्ष में  6 हजार से ज्यादा पॉलिसियाँ जारी की गईं। कोरोना महामारी की भयावहता को देखते हुए आज के दौर में जीवन बीमा एक अभिन्न आवश्यकता बन गया है, जिससे भारत सरकार के 100 प्रतिशत स्वामित्व वाले डाक जीवन बीमा की मांग बढती जा रही है। एक अभिनव पहल करते हुए वाराणसी परिक्षेत्र के 205 गाँवों में सभी योग्य लोगों का बीमा करते हुए इन्हें 'सम्पूर्ण बीमा ग्राम' बना दिया गया है।

पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग ने नवीन टेक्नालॉजी अपनाते हुए कोर इंश्योरेंस सर्विस के तहत मैककेमिश सॉफ्टवेयर के माध्यम से बीमा सेवाओं को भी ऑनलाइन बनाया है। अब प्रीमियम की राशि ऑनलाइन जमा की जा सकती है। डाक जीवन बीमा के अन्तर्गत लाभों की चर्चा करते हुए प्रवर अधीक्षक डाकघर वाराणसी पूर्वी मंडल राजन ने कहा कि निवेश की सुरक्षा पर सरकार की गांरटी, धारा 80 के तहत आयकर में छूट, कम प्रीमियम व अधिक बोनस, पालिसी पर लोन की सुविधा, ऑनलाइन प्रीमियम जमा करने की सुविधा, देश के किसी भी डाकघर में प्रीमियम जमा करने की सुविधा और अग्रिम प्रीमियम पर छूट दी जाती है। 
 
सहायक निदेशक राम मिलन ने बताया कि डाक जीवन बीमा में अधिकतम बीमित सीमा 50 लाख और ग्रामीण डाक जीवन बीमा में 10 लाख है। वाराणसी परिक्षेत्र में 62 विभिन्न जगहों पर डाक बीमा मेले लगाकर ‘डाक जीवन बीमा दिवस’ मनाया गया, जिसमें लोगों को इसके बारे में जागरूक किया गया और लोगों का बीमा भी किया गया। इस अवसर पर प्रवर डाक अधीक्षक राजन, सहायक निदेशक राममिलन, अधीक्षक डाकघर वाराणसी पश्चिम मंडल संजय वर्मा, लेखा अधिकारी एमपी वर्मा, सहायक लेखा अधिकारी संतोषी राय, सहायक डाक अधीक्षक अजय कुमार मौर्या, डाक निरीक्षक श्रीकांत पाल, विशम्भर नाथ द्विवेदी, प्रकाश गुप्ता, राजेन्द्र यादव सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन