काश अखिलेश यादव फर्जी आरोपों में मारे गए बेगुनाह मुसलमानों के घर भी जाते- शाहनवाज़ आलम


लखनऊ। अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने कानपुर के व्यापारी मनीष गुप्ता की हत्या पर अखिलेश यादव के उनके घर जाकर संवेदना व्यक्त करने का स्वागत करते हुए कहा कि काश अखिलेश जी भाजपा सरकार में फ़र्ज़ी आरोपों में मारे गए बेगुनाह मुसलमानों के परिजनों से भी मिले होते। कम से कम अपने संसदीय सीट आजमगढ़ के बिलरियागंज की महिलाओं से तो उन्हें मिल ही लेना चाहिए था जिन्हें पुलिस ने सीएए का विरोध करने के कारण बुरी तरह पीटा था।
 
शाहनवाज़ आलम ने कांग्रेस मुख्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि अल्पसंख्यक कांग्रेस के संकल्प पत्र वितरण अभियान के तहत आज दूसरे चरण में प्रत्येक विधान सभा की मस्जिदों के बाहर संकल्प पत्र बांटे गए। उन्होंने कहा कि संकल्प पत्र पर मिलते सकरात्मक प्रतिक्रिया से स्पष्ट हो गया है कि मुसलमान अब सपा की जातिवादी और सांप्रदायिक मानसिकता को समझने लगा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने चार दिवसीय लखनऊ दौरे में बुनकर समाज के प्रतिनिधिमण्डल से मुलाक़ात कर उनके मुद्दों को घोषणा पत्र में शामिल करने का जो वादा किया है उससे बुनकर समाज में उत्साह है और 10 अक्टूबर को बनारस में होने वाली रैली में बुनकर समाज बड़ी संख्या में शामिल होगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन