संघ के शारीरिक वर्ग अभ्यास में शामिल हुए मोहन भागवत

अयोध्या। राष्ट्रीय स्वयं संघ के पांच दिवसीय अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग शाखा के तीसरे दिन सरसंघचालक मोहन भागवत भी शामिल हुए, दौरान परिचय सत्र के साथ बौद्धिक और शारीरिक वर्ग का अभ्यास कराया गया।अयोध्या के विश्व हिंदू परिषद मुख्यालय कारसेवक पुरम में पांच दिवसीय अखिल भारतीय शारीरिक वर्ग शाखा लगाई गई है।
 
1992 के बाद पहली बार इतनी बड़ी शाखा अयोध्या में लगाई गई। जिसमे 45 राज्यों से 450 संघी कार्यकर्ताओं को शामिल किया गया है। इस अभ्यास वर्ग के तीसरे दिन संघ प्रमुख मोहन भागवत सहित सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले, सह सर कार्यवाह कृष्ण गोपाल, कार्य समिति के सदस्य भैया जी जोशी, शारीरिक शिक्षण प्रमुख सुनील कुलकर्णी, सह शारीरिक शिक्षण प्रमुख जगदीश प्रसाद, अनिल ओक व्यवस्था प्रमुख, रामलाल संपर्क प्रमुख और सुरेंद्र चंद्र प्रचारक भी शामिल हुए। जनपद में लगाई गई शारीरिक अभ्यास वर्ग में बैंड उद्बोधन के बाद फिटनेस का अभ्यास कराया गया।
 
इस दौरान विभिन्न प्रांतों से आए कार्यकर्ताओं का प्रान्त के तहत टोलियों में परेड किया गया। तो ही शाखा के दूसरे चरण में बौद्धिक उद्बोधन किया गया जिसमें सर संघ चालक मोहन भागवत व सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले का उद्बोधन हुआ इसमें बताया गया की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समर्पण भाव जरूरी है। वही बताया कि संघ प्रशिक्षण सिर्फ शारीरिक व्यायाम बौद्धिक तक ही सीमित ही नहीं बल्कि वैचारिक वर्ग और ज्ञान योग व कर्म योग तथा भक्ति योग का समन्वय है। इस वर्ग में मैं संघ का हूं संघ मेरा है ऐसा समर्पण भाव सिखाता है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर