देश प्रदेश को जाति धर्म की राजनीति से निकालकर ले जाना है समानता की राजनीति की ओर- प्रियंका गांधी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजनीति में ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने आगामी उत्तर प्रदेश विधान सभा के चुनाव में कांग्रेस पार्टी द्वारा 40 प्रतिशत महिलाओं को उम्मीदवार बनाने की घोषणा के साथ ही दूसरी प्रतिज्ञा के तौर पर यह घोषणा की है कि कांग्रेस की उत्तर प्रदेश में सरकार बनने पर 12वीं पास छात्राओं को स्मार्टफोन और स्नातक युवतियों को इलेक्ट्रानिक स्कूटी प्रदान कर उन्हें आत्मनिर्भर एवं सशक्त किया जायेगा।
 
यह एक साहसिक उद्घोष है और आधी आबादी को सशक्त करने के उद्देश्य से एवं उनकी सम्मानजनक उपस्थिति दर्ज कराने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। देश प्रदेश को जाति धर्म की राजनीति से निकालकर समानता की राजनीति की ओर ले जाना है, तो महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित कर उन्हें सशक्त करना पड़ेगा। यह एक साहसिक एवं दूरदर्शी प्रयास है। प्रदेश प्रवक्ता शुचि विश्वास ने कहा कि बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ का नारा दे वाली भाजपा सरकार के कार्यकाल में उन्नाव रेप काण्ड, कुलदीप सेंगर, चिन्मयानंद काण्ड, हाथरस रेप काण्ड, अर्धरात्रि शव दाह, जैसी जघन्य घटनाओं में येगी सरकार की उदासीनता और एनसीआरबी के भयावह आकड़े विक्षिप्त और कुत्सित मानसिकता को उजागर करतें हैं।
 
धरातल पर लगातार उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी महिलाओं, बच्चियों, युवतियों के हक की लड़ाई तमाम प्रतिरोध के बावजूद सरकार से लड़ रहीं है। 188 देशों में महिलाओं की राजनैतिक भागीदारी में भारत 148वें नम्बर पर है, लोकसभा में महिला उपस्थिति मात्र 12 प्रतिशत और विधानसभा 19 प्रतिशत के करीब है। आजादी के इतने वर्षो बाद आधी आबादी को राजनैतिक रूप से स्थापित करने की दिशा में एक ऐतिहासिक फैसला है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर