मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों की हो रही आपूर्ति

अयोध्या। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री रामलला का गर्भगृह जसवंतपुर की ग्रेनाइट से बने जोधपुर के चबूतरे पर किया जाएगा। जिसके लिए पत्थरों की आपूर्ति की जा रही है। दरसल मंदिर निर्माण के लिए प्लिंथ व बेस निर्माण का कार्य नवंबर माह से प्रारंभ किया जाने की तैयारी शरू कर दिया गया है।
 
इसके लिए मिर्जापुर के पत्थरों के साथ जसवंतपुर बेंगलुरु के ग्रेनाइट पत्थरों को अयोध्या लाया जा रहा है। वहीं मंदिर निर्माण को लेकर चल रहे राफ्ट की ढलाई के कार्य की प्रगति तेजी से हो रही है। जिसका कार्य अक्टूबर माह में ही पूरा कर लिया जाएगा। राम मंदिर निर्माण को लेकर चल रहे राफ्ट की ढलाई 1 अक्टूबर से शुरू हुए यह कार्य तेजी से किया जा रहा है अब तक मंदिर निर्माण के लिए तैयार किए गए फाउंडेशन पर 15 ब्लॉक में विभक्त कर ढलाई की जा रही है जिसमें अब तक 6 ब्लॉक की ढलाई का कार्य पूरा कर लिया गया है। मौसम की अनुकूलता को देखते हुए यह कार्य रात्रि में ही किया जा रहा है।
 
एक राफ्ट से दूसरे राफ्ट की ढलाई के लिए 2 दिन का समय लग रहा है। जिसे अक्टूबर माह में ही पूरा किए जाने की तैयारी है। राम जन्म भूमि परिसर में मंदिर निर्माण के लिए तीसरे चरण का कार्य नवंबर माह से प्रारंभ कर दिया जाएगा तीसरे चरण में मंदिर के प्लिंथ व बेस निर्माण कार्य किया जाएगा। मिली जानकारी के मुताबिक जिसके लिए पत्थरों की आपूर्ति का कार्य शुरू कर दिया गया है प्लींथ निर्माण के लिए मिर्जापुर के 4 फुट लंबी और 2 फुट चौड़ी पत्थरों की 30 हजार ब्लाक लगाए जाएंगे। और बेस निर्माण के लिए 4500 स्क्वायर फुट में 10000 से अधिक पत्थरों लगाए जाने के लिए जसवंतपुर बैंग्लोर से ट्रकों के माध्यम से आपूर्ति की जा रही है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन