मारो और मुआवजा की नीति पर चल रही है योगी सरकार- संजय सिंह

लखनऊ आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य और यूपी प्रभारी संजय सिंह ने गुरुवार को गोमती नगर स्थित पार्टी कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह के साथ पत्रकार वार्ता के दौरान योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अहंकारी सरकार मारो और मुआवजा दो की नीति पर चल रही है। लखीमपुर खीरी की घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि किसानों की हत्या को लेकर जब पूरा देश शोक में था तब योगी और मोदी लखनऊ में अमृत महोत्सव मना रहे थे, लेकिन वो मारे गए किसानों के परिवार से मिलने नहीं गए।
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास ब्राज़ील और अर्जेंटीना के फुटबॉल खिलाड़ियों के निधन पर शोक जताने का वक्त है लेकिन उनके मंत्री के बेटे द्वारा कीड़े मकोड़ों की तरह गाड़ी से रौंदकर मौत के घाट उतार दिए गए किसानों के परिवारों से मिलने के लिए उनके पास वक्त नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे और मेरे साथियों को 56 घंटे हिरासत में रखा गया। विपक्ष को वहां जाने से रोका गया, ताकि सच्चाई सामने न आने पाए। आप सांसद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट को आज पूछना पड़ा कि हत्यारों की गिरफ्तारी अब तक क्यों नहीं हुई। यह योगी सरकार के लिए शर्म वाली बात है। उन्होंने कहा कि मैं लखीमपुर खीरी में पीड़ित तीनों परिवारों से मिला। सबका एक स्वर में यही कहना था कि मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे की गाड़ी से किसानों को रौंद कर मारा गया है। पीड़ित परिवारों ने सवाल उठाया कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी का इस्तीफा और उसके हत्यारे बेटे की गिरफ्तारी क्यों नहीं की गई?
 
संजय सिंह बोले- अब तक कोई कार्रवाई न होने से पीड़ित परिवारों के मन में असंतोष है, लेकिन योगी सरकार यह कह रही है कि पीड़ित परिवार संतुष्ट हैं। ऐसा झूठ बोलकर सरकार अपनी पीठ खुद थपथपा रही है। मंत्री द्वारा घटना से अपने बेटे का कोई सरोकार ना होने के बयान पर संजय सिंह ने कहा कि कुछ दिन पहले ही देश का गृह राज्यमंत्री किसानों को धमकी देता है यह तो रिकॉर्डेड है। इस आधार पर ही मंत्रिमंडल से टेनी की बर्खास्तगी होनी चाहिए। कहा कि व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी का हत्यारा एसपी एक साल से फरार है। गोरखपुर में व्यापारी मनीष गुप्ता के हत्यारे छह पुलिसकर्मी फरार हैं। पहले डाकू-चोर फरार होते थे, लेकिन योगी सरकार में एसपी फरार, इंस्पेक्टर फरार, दारोगा फरार, सिपाही फरार हैं। संजय सिंह ने तत्काल मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी और उसके हत्यारे बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की मांग की। कहा कि अजय मिश्रा की बर्खास्तगी इसलिए जरूरी है कि उसके अधीन देश की तमाम जांच एजेंसियां काम करती हैं। ऐसे में उसके हत्यारे बेटे की गिरफ्तारी और मामले की सही जांच कैसे हो सकती है।
 
उन्होंने घटना की जांच किसी वर्तमान जज की देखरेख और एक तय समयसीमा के भीतर कराने की मांग की। सांसद संजय सिंह ने प्रेस वार्ता में जानकारी दी कि वह अब बहराइच जाएंगे। कहा कि लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में मंत्री के बेटे की गाड़ी से कुचलकर मारे गए बहराइच निवासी स्वर्गीय गुरविंदर सिंह और दलजीत सिंह के परिवार से मिलकर शोक संवेदना जताने के साथ न्याय के लिए जारी उनकी लड़ाई में हर कदम पर साथ देने का भरोसा भी दूंगा। प्रेस वार्ता के बाद राज्यसभा सांसद संजय सिंह प्रदेश अध्यक्ष सभाजीतसिंह ने कई लोगों को पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। इसमें पूर्वांचल विकास मंच के प्रदेश अध्यक्ष संजय सिंह, गोंडा से सपा जिला उपाध्यक्ष बृजेश सिंह जो पूर्व मंत्री पंडित सिंह के बहनोई भी हैं, कानपुर देहात से समाजसेवी राहुल कटियार, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष हरिहर राजभर, पूर्व उपाध्यक्ष शहर कांग्रेस कमेटी रिंकू अरोड़ा 'गौरव' आदि प्रमुख रहे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन