रक्तदान एक अनमोल दान है जिससे आप किसी का जीवन बचाते है- मिशन निदेशक

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस के अवसर पर ‘‘रक्तदान महादान‘‘ को चरिताथर् करते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उ0प्र0 के तत्वावधान में आज शुक्रवार को एस.पी.एम.यू.सभागार में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। प्रदेश में 01 अक्टूबर से 31 अक्टूबर तक चलने वाले रक्तदान की इस विशेष मुहिम का शुभारम्भ मिशन निदेशक ने अपने कर कमलों से किया। इस अवसर पर डा0 वी.के.शमार् प्रभारी रक्तकेंद्र आर.एम.एल.चिकित्सा अनुसंधान, डा0 अमरेश बहादुर सिंह, प्रभारी स्टेट ब्लड सेल, डा0 वेद प्रकाश, महाप्रबंधक बाल स्वास्थ्य आदि उपस्थित रहे।
 
रक्तदान शिविर में एन.एच.एम.के अधिकारियों, कमर्चारियों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया और उत्साह पूवर्क रक्तदान किया और स्वंय को स्वैच्छिक रक्तदाता के रूप में पंजीकृत करायाशिविर में रक्तदान करने वालों को प्रशस्ति पत्र प्रदान करते हुए मिशन निदेशक महोदया ने कहा कि ‘‘एक रक्तदान बचाये चार जान‘‘ रक्तदान एक अनमोल दान है जिससे आप किसी का जीवन बचाने के लिए अपना योगदान देते हैं, इसी कारण प्रत्येक रक्तदाता एक नायक के रूप में प्रतिष्ठित होता है। मिशन निदेशक महोदया ने बताया कि रक्त का कोई विकल्प नहीं होता है, और आपे द्वारा किया गया रक्तदान आपातकाल के समय जीवन रक्षक की भूमिका निभाता है। उन्होने बताया कि स्वास्थ्य से जुड़े कई कायर्क्रमों जैसे मातृ स्वास्थ्य, संचारी रोग, ब्लड डिसआडर्र प्रबंधन आदि में आवश्यकता के समय रक्त एवं रक्त अवयव ही जीवनदायिनी साबित होता है।
 
अक्टूबर माह में चलाये जारहे इस विशेष अभियान में अन्य विभागों के कायार्लयों में भी रक्तदान शिविरों का आयोजन करते हुए रक्तकेंद्रों रक्त की प्रचुर उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी जिससे आवश्यकता के समय बिना प्रतिस्थानी के जरूरतमंदों को ससमय रक्त उपलब्ध कराया जा सके। डा0 अमरेश बहादुर सिंह, प्रभारी स्टेट ब्लड सेल ने शिविर में बताया कि ‘‘रक्तदान करके देखो अच्छा लगता है‘‘ रक्त किसी फैक्ट्री में नहीं बन सकता है और आवश्यकता के समय रक्त तब ही उपलब्ध हो पायेगा जब हम और आप बढ़-चढ़ कर ब्लड डोनेशन करेंगे। प्रदेश में रक्तदान के लिए अक्टूबर माह में एक अभियान चलाया जा रहा है जिसमें स्वैच्छिक रक्तदान किया जा सकता है, रक्तदान शिविरों में कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए रक्त एकत्र किया जा रहा है। आज के रक्तदान शिविर में कुल 35 युनिट ब्लड एकत्र किया गया।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन