सतत विकास लक्ष्य को हासिल करने के लिए पाक्षिक समीक्षा बैठकें करें नोडल अधिकारी - मुख्य सचिव



लखनऊः मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में नीति आयोग द्वारा निर्गत सतत विकास लक्ष्य इण्डिया इंडेक्स-3 में वर्णित 65 इंडिकेटर्स की विभागवार प्रगति की समीक्षा की गई। 

अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि सतत विकास के निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सभी नोडल अधिकारी 15 दिन में एक बार अवश्य समीक्षा बैठक करें। उन्होंने कहा कि सतत विकास लक्ष्य के निर्धारित सभी इंडीकेटर्स की जिलावार सूचनाएं डैशबोर्ड पर दर्ज कर दी जायें ताकि मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी भी स्थानीय स्तर पर कार्यों का मूल्यांकन, पर्यवेक्षण एवं अनुश्रवण कर सकें। उन्होंने सभी मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों से भी अपेक्षा की कि वह विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) में निर्धारित इंडीकेटर्स की प्रगति की भी नियमित समीक्षा करें। 

बैठक में ग्राम्य विकास, खाद्य एवं रसद, कृषि, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, महिला कल्याण एवं बाल विकास पुष्टाहार, सिंचाई, पंचायतीराज, एमएसएमई, निर्यात प्रोत्साहन, औद्योगिक विकास, समाज कल्याण, नगर विकास, पर्यावरण वन एवं गृह विभाग के लिए निर्धारित इंडीकेटर्स की अद्यतन प्रगति की समीक्षा की गई। 

बैठक में अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव नियोजन सुरेश चन्द्रा, प्रमुख सचिव खाद्य वीना कुमारी मीना सहित सभी सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण आदि उपस्थित थे। 

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर