उच्चस्तरीय टीम-09 को मुख्यमंत्री ने जारी किएआवश्यक दिशा-निर्देश

लखनऊ। टेस्टिंग, ट्रीटमेंट और टीकाकरण की नीति के सही क्रियान्वयन से प्रदेश में कोविड पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है। प्रदेश के 41 ज़िलों में आज एक भी संक्रमित नहीं हैं, जबकि 17 जिलों में 01-01 मरीज ही शेष हैं। बीते 24 घंटों में हुई 72 हजार 969 सैम्पल की जांच हुई। जांच में कुल 07 संक्रमितों की पुष्टि हुई। इसी अवधि में 15 संक्रमित कोरोना मुक्त भी हुए।

आज प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 83 है, जबकि 16 लाख 87 हजार 207 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। विश्व के अनेक देशों में सहित देश के कई राज्यों में नए संक्रमित मिलने की संख्या में बढोतरी हो रही है। ऐसे में हमें बहुत सतर्कता-सावधानी की जरूरत है। दूसरे प्रदेशों से उत्तर प्रदेश आ रहे हर व्यक्ति की जांच जरूर की जाए। बस, रेलवे स्टेशन व एयरपोर्ट पर अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है। कोविड प्रोटोकाल/मास्क की अनिवार्यता को प्रभावी रूप से लागू किया जाए।उत्तर प्रदेश में अब तक 13 करोड़ 28 लाख से अधिक कोविड वैक्सीन डोज लगाए जा चुके हैं। 03 करोड़ 37 लाख 70 हजार से अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज देकर कोविड का सुरक्षा कवर प्रदान कर दिया गया है। जबकि 09 करोड़ 90 लाख लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है।

टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी के 67 फीसदी लोगों ने पहली डोज प्राप्त कर ली है। पहले डोज के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुक करने की अनिवार्यता समाप्त करते हुए क्लस्टर 2.0 की नीति के साथ टीकाकरण को और तेज करने की जरूरत है।कानपुर में जीका वायरस से संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है। ऐसे में विशेष सतर्कता की जरूरत है। डेंगू की टेस्टिंग और तेज की जाए। अस्वस्थ लोगों के उपचार के लिए सभी अस्पतालों में प्रबंध किए गए हैं। हर एक मरीज के स्वास्थ्य की सतत निगरानी की जाए। सर्विलांस को बेहतर करने की जरूरत है। बचाव के लिए व्यापक स्वच्छता, सैनिटाइज़ेशन और फॉगिंग का कार्य सतत जारी रखें। निगरानी समितियों का पूरा सहयोग लिया जाए।प्रदेश में निवेश कर रहीं औद्योगिक इकाइयों को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा इंसेंटिव प्रदान किया जा रहा है। 

ऐसे सभी प्रकरणों की गहन समीक्षा कर यथाशीघ्र यथोचित समाधान किया जाए।अगले दो महीने में 25 से 30 लाख लोगों को प्रतिदिन वैक्सीन लगाए जाने का लक्ष्य रखा जाय। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य इसकी तयारी करें और प्रदेश के सभी सीएमओ के साथ बैठक कर कार्यवाही को तेज करे। हर हाल में वैक्सीन की कार्यवाही को तेज करना है।प्रदेश में खाद्यान्न वितरण की घोषणा के बाद प्रोक्योरमेंट की कार्रवाई को तेजी से आगे बढ़ाया जाए ताकि समयबद्ध तरीके से हम लोगों को राशन दे सके।प्रदेश में जिन बच्चों को स्मार्टफोन और टेबलेट दिए जाने हैं उन लोगों की लिस्ट समयबद्ध तरीके से विभाग बनाकर तैयार कर लें ताकि हम लोग नवंबर के अंत तक बच्चों को स्मार्टफोन और टेबलेट वितरण करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर सकें ।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन