14 कोसी परिक्रमा कैंप की तैयारी में जुटे सामाजिक संगठन

अयोध्या। अयोध्या की 14 कोसी परिक्रमा की तैयारियों में सामाजिक संगठन पूरी तरह जुट गए हैं। रविवार को चाणक्य परिषद की अहम बैठक सूर्यकुंड दर्शन नगर में हुई जिसमें 14 कोसी परिक्रमा के दौरान लगाए जाने वाले सहायता शिविर की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।अखिल भारतीय चाणक्य परिषद की बैठक रविवार को सूर्य कुंड दर्शन नगर पर बुलाई गई।

चाणक्य परिषद के जिला अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद तिवारी आफत के नेतृत्व में आयोजित इस बैठक में आगामी 14 कोसी परिक्रमा की तैयारियों की समीक्षा की गई।बैठक शुरु होने पर सबसे पहले गोसाईगंज के विधायक इंद्रप्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी और चाणक्य परिषद के राष्ट्रीय संरक्षक पंडित कृपा निधान तिवारी की जेल से अविलंब रिहाई के लिए प्रार्थना की गई। इस प्रार्थना के तहत श्री हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ किया गया। बैठक में मौजूद परिषद के सदस्यों ने सूर्यकुंड मंदिर में भगवान सूर्य का दर्शन पूजन कर दोनों नेताओं के आरोप मुक्त होकर जेल से बाहर आने की प्रार्थना की गई। बैठक के अंत में परिषद के संस्थापक सदस्य पंडित मुरलीधर चतुर्वेदी के आकस्मिक निधन पर दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

आगामी 12 नवंबर को अयोध्या में होने जा रही 14 कोसी परिक्रमा को लेकर भी बैठक में चर्चा की गई। बैठक में तय किया गया कि परिषद की ओर से 14 कोसी परिक्रमा के दौरान लगाये जाने वाले नि:शुल्क दवा एवं जलपान कैंप को परिषद के करुणानिधान तिवारी के नाम से लगाया जाएगा। कैंप की तैयारियों की समीक्षा करने के दौरान परिषद के सदस्यों को जिम्मेदारी भी सौंपी गई। इस बैठक में पूर्व महामंत्री डॉ सुरेंद्र दुबे जिला अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद तिवारी आफत जिला महामंत्री लखन धर त्रिपाठी जिला उपाध्यक्ष राधे शरण मिश्र लेखा परीक्षक उमाशंकर त्रिपाठी दीनदयाल तिवारी ओम प्रकाश पांडे रज्जू हर्षित तिवारी गोपाल तिवारी शिवांश तिवारी,शिवाकांत तिवारी बाबूराम पांडे चंद्र शेखर पांडे दिनेश कुमार मिश्र परमानंद पाठक राधेश्याम पांडे राम तिलक पांडे समेत परिषद के विशेष सदस्य मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन