केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री द्वारा 32वे "हुनर हाट" का किया गया उद्घाटन

लखनऊ देश भर के दस्तकारों, शिल्पकारों की परंपरागत-पुश्तैनी कला को "प्रमोट, प्रिजर्व" करने के "प्रामाणिक प्लेटफार्म" "हुनर हाट" का उद्घाटन आज लखनऊ में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और रसायन एवं उर्वरक मंत्री डा. मनसुख मांडविया द्वारा किया गया। "हुनर हाट" के उद्घाटन के बाद अपने सम्बोधन में डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि देश के हुनर को प्रमोट करना, प्रोत्साहित करना, कलाकारों की कला की कद्र करना बहुत आवश्यक है।
 
देश भर की छिपी हुई कला को, हुनर को "हुनर हाट" के माध्यम से सम्मानित किया जा रहा है। डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि भारत सदियों से पूरे विश्व भर में दस्तकारी, शिल्पकारी की वस्तुओं का व्यापार करता रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने "आत्मनिर्भर भारत" की परिकल्पना को साकार करने के लिए "वोकल फॉर लोकल" का नारा दिया है जिसे "हुनर हाट" आगे बढ़ा रहा है। डॉ. मनसुख मांडविया ने कहा कि देश के दस्तकारों, शिल्पकारों की आय को बढ़ाने के लिए उनके स्वदेशी उत्पादों को राष्ट्रीय मार्किट के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय मार्किट मुहैया कराने की भी जरुरत है और इस दिशा में "हुनर हाट" एक महत्वपूर्ण प्लेटफार्म साबित हुआ है। "हुनर हाट" के माध्यम से भारत के हैंडीक्राफ्ट को पूरी दुनिया में प्रसिद्धि मिली है। अवध विहार योजना ग्राउंड, लखनऊ में 12 से 21 नवम्बर 2021 तक आयोजित 32वे "हुनर हाट" के उद्घाटन के अवसर पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री एवं उपनेता, राज्यसभा, मुख्तार अब्बास नकवी; उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना; आशुतोष टंडन; सिद्धार्थ नाथ सिंह; बृजेश पाठक; जय प्रताप सिंह और नन्द गोपाल गुप्ता "नंदी"; राज्यमंत्री स्वाति सिंह; विभिन्न जनप्रतिनिधि; उत्तर प्रदेश सरकार में अतिरिक्त मुख्य सचिव नवनीत सहगल; केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी एवं अन्य गणमान्य उपस्थित रहे।
 
इस अवसर पर देश की आजादी की लड़ाई के महानायक शहीद अशफ़ाकउल्ला खान एवं देश की सुरक्षा के लिए अपना जीवन कुर्बान करने वाले अन्य शहीदों के परिवारों का सम्मान किया गया। भारत में 110 करोड़ से अधिक लोगों के कोरोना टीकाकरण होने की शानदार उपलब्धि पर "हुनर हाट" में उपस्थित लोगों ने खड़े होकर, करतल ध्वनि से, तालियां बजाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया का धन्यवाद किया। लखनऊ "हुनर हाट" में 30 से ज्यादा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 600 से ज्यादा दस्तकार, शिल्पकार, कारीगर शामिल हुए हैं। इसके अलावा देश के विभिन्न क्षेत्रों के पारम्परिक पकवान भी उपलब्ध हैं। लखनऊ में आयोजित "हुनर हाट" में "विश्वकर्मा वाटिका" के अलावा "सर्कस" का भी प्रदर्शन होगा। जहाँ लोग भारतीय सर्कस कलाकारों के शानदार पारम्परिक कौशल को देख सकेंगें। 
 
लखनऊ में आयोजित "हुनर हाट" में देश के जाने-माने कलाकार अन्नू कपूर; पंकज उधास; कुमार शानू; अलका याग्निक; अल्ताफ राजा; सुरेश वाडेकर; सुदेश भोसले; सदानंद बिस्वास (कत्थक कलाकार); प्रेम भाटिया; विवेक मिश्रा; दिलबाग सिंह; रानी इन्द्राणी; शिबानी कश्यप; सुगंधा मिश्रा; भूपिंदर सिंह भुप्पी; मोहित खन्ना एवं अन्य कलाकार प्रतिदिन सांयकाल विभिन्न सांस्कृतिक, गीत-संगीत के कार्यक्रम पेश करेंगें। इस अवसर पर नकवी ने कहा कि पिछले 6 वर्षों में "हुनर हाट" के माध्यम से 6 लाख 75 हजार से ज्यादा दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर मुहैया कराए गए हैं। आने वाले दिनों में "हुनर हाट" का आयोजन 14 से 27 नवम्बर, प्रगति मैदान, नई दिल्ली; 26 नवम्बर से 5 दिसंबर तक हैदराबाद; 10 दिसंबर से 19 दिसंबर तक सूरत एवं 22 दिसंबर 2021 से 2 जनवरी 2022 तक जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम, नई दिल्ली में होगा। इसके अलावा "हुनर हाट" का आयोजन मैसुरु, गुवाहाटी, पुणे, अहमदाबाद, भोपाल, पटना, पुडुचेरी, मुंबई, जम्मू, चेन्नई, चंडीगढ़, आगरा, प्रयागराज, गोवा, जयपुर, बेंगलुरु, कोटा, सिक्किम, श्रीनगर, लेह, शिलांग, रांची, अगरतला एवं अन्य स्थानों भी पर होगा।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन