रामनगरी में दीपोत्सव का बना रिकॉर्ड, एक साथ जले 9 लाख 11 दीये


अयोध्या। रामनगरी में इस बार भी भव्य व दिव्य दीपोत्सव मनाया गया। दीपों की माला और लेजर शो के साथ रंग-बिरंगी अयोध्या स्वर्ग की भांति दमक उठी। रामनगरी में लगातार पांचवीं बार दीपोत्सव का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। इस बार एक साथ 9 लाख 11 दीप जलाये गये। राम की पैड़ी के 32 घाटों पर 40 मिनट में सभी दीप प्रज्ज्वलित हुए, जो लगातार पांच मिनट तक जलते रहे।

पिछली बार एक साथ 5 लाख 51 हजार दीप जलने का रिकॉर्ड बना था। इससे पहले 2017 में लगभग 01 लाख 80 हजार, 2018 में 3,01,152, व 2019 में 5,50,000, और 2020 में 5,51000 हजार दीप जलाने का विश्व रिकॉर्ड बना था।रामनगरी के पांचवें दीपोत्सव पर त्रेतायुग जीवंत हो उठा। रामकथा पार्क में जैसे ही हेलीकाप्टर (पुष्पक विमान) से भगवान राम, मां सीता और शेषावतार लक्ष्मण उतरे तो खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व केंद्रीय पर्यटन मंत्री किशन रेड्डी ने अपने कैबिनेट के सहयोगियों के साथ भगवान के स्वरूप की अगवानी की।

इस दौरान हेलीकॉप्टर से तीन राउंड पुष्पवर्षा हुई तो जय जय श्रीराम के नारों से अयोध्या गुंजायमान हो उठी।दीपोत्सव में उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, झारखंड, नोएडा, झांसी, नागपुर, पंजाब आदि राज्यों के करीब 1200 कलाकारों ने प्रस्तुति दी। जयपुर का कालबेलिया नृत्य, पंजाब का भांगड़ा, बांदा का पाई डंडा, मथुरा का बम रसिया, झांसी का राई, सोनभद्र के मादल वादन के जरिये लोक संस्कृति की समृद्धि की झलक दिखी। हरियाणवी नृत्य, झारखंड का छाऊ नृत्य ने झांकियों को और भव्य कर दिया।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन