भाजपा वोट लेती है, हिस्सेदारी नहीं देती- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा के पास नफरत के सिवाय और कुछ नहीं है। वे इसी की राजनीति करते हैं। वे भाईचारा और गंगा जमुनी संस्कृति को खत्म करना चाहते है। भाजपा ने लोगों का हक और सम्मान छीना है और अपमानित किया है। इस बार सन् 2022 में होने वाला चुनाव ऐतिहासिक होगा। इसमें भाजपा की ऐतिहासिक हार होगी।

अखिलेश यादव आज लखनऊ के रमाबाई अम्बेडकर मैदान में जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) की जनवादी जनक्रांति महारैली को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट) के अध्यक्ष डॉ0 संजय चौहान ने अपने समर्थकों से अपील करते हुए कहा कि भाजपा को सबक सिखाने के लिए अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाना है। भाजपा वोट लेती है, हिस्सेदारी नहीं देती है। भाजपा सामाजिक न्याय नहीं चाहती है। अखिलेश ने हमारे समाज को सम्मान दिया है। भाजपा नहीं चाहती है कि चौहान समाज का कोई नेता हो। अखिलेश यादव ने कहा कि आज का नारा यही है कि ‘‘भाजपा हटाओ, प्रदेश बचाओ,‘‘ ‘‘नहीं चाहिए भाजपा।‘‘ इस सरकार से हर वर्ग के लोग दुःखी हैं। इतना दुःख और तकलीफ किसी सरकार ने नहीं दी। भाजपा ने जनसामान्य को परेशान कर दिया है। बाबा साहेब ने जो सपना देखा था वो सपना पूरा नहीं हुआ। खुशहाली का सपना तब पूरा होगा जब आपकी सरकार बनेगी। उन्होंने कहा चौहान समाज विकास में बहुत पीछे छूट गया है। भाजपा ने उसे पीछे कर दिया है।

उन्होंने चौहान समाज से साइकिल को जिताने की अपील की। यादव ने कहा कि भाजपा ने किसानों को धोखा दिया है। धान की लूट हो गई है। किसान को धान की कीमत नहीं मिली। खाद का अभाव है, बिजली महंगी, डीजल महंगा, बीज महंगा। गन्ना किसान का बकाया नहीं मिला है। किसानों के हित में समाजवादी सरकार मण्डियां बना रही थी। समाजवादी सरकार में बेहतर मंडियों की व्यवस्था होगी। भाजपा बताए किसानों के लिए क्या किया? तीन काले कृषि कानून वापस हुए पर एमएसपी नहीं मिली। यादव ने कहा कि महंगाई रोकना भाजपा के बस में नहीं है, नौजवान बेरोजगारी का शिकार है। नौकरियां नहीं है। भाजपा के लोग उद्योगपतियों की मदद करते है। इन्होंने यूपी को विकास में पीछे कर बर्बाद कर दिया है। इस बार जनता इन्हें बदल देगी। यूपी का सीएम बदल देगी। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार हवाई जहाज ही नहीं, हवाई अड्डे भी बेच रही है। इसी तरह अन्य संस्थाएं भी बेच रही है।

जब सब कुछ बिक जाएगा तो गरीब को हक, सम्मान और आरक्षण कहां मिलेगा? उन्होंने कहा समझ में नहीं आता है कि भाजपा का क्या गणित है। सरकारी संस्थान घाटे में है हवाई जहाज घाटे में, एयरलाइंस घाटे में। उद्योगपति फायदे में। जेवर में हवाई अड्डा बना रहे हैं, उसे बाद में बेच देंगे। इन पर कोई कैसे विश्वास करेगा? यादव ने कहा कि भाजपा सरकार पिछड़ों की जाति जनगणना नहीं कराना चाहती है। वह उन्हें हक और सम्मान नहीं देना चाहती है। समाजवादी सरकार आने पर जाति जनगणना कराई जाएगी और चौहान समाज को भी उसके अधिकार मिलेंगे। उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी सभी को जोड रही है। हमने कई दलों को जोड़ने का काम किया है। हमने कई रंगों को मिलाकर रंगीन गुलदस्ता बनाया है। सभी को जोड़कर प्रदेश का विकास करेंगे। भाजपाई एक रंगी लोग है, वे कभी खुशहाली नहीं ला सकते है। वे रंग और नाम बदलने वाली सरकार है। जनता ने भी इसको बदलने का मन बना लिया है। प्रारम्भ में अखिलेश यादव ने सभास्थल पर भारी भीड़ और भीड़ में लहराते झंडो का जिक्र करते हुए उन्होंने जनसमुदाय से आग्रह किया कि वे लोग चुनाव के दिन एक वोट अपने अपमान का बदला लेने के लिए और साइकिल की रफ्तार बढ़ाने के लिए दें।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन