श्रीरामलला के दरबार से काशी विश्वनाथ के लिए रवाना हुई माँ अन्नपूर्णा देवी पुनर्स्थापित यात्राए


अयोध्या। माता अन्नपूर्णा देवी पुनर्स्थापना यात्रा आज भगवान श्रीराम जन्मभूमि पर आरती पूजन कर काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी के लिए रवाना हुई। इस दौरान सांस्कृतिक आयोजनों से सजी झाकियाँ इस यात्रा का आकर्षक रहा और कड़ी सुरक्षा के बीच राम के धाम से निकाली गई। जिसे प्रदेश पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी अगुवानी कर रहे हैं।

सैकड़ों वर्ष पहले वाराणसी से माता अन्नपूर्णा देवी की चोरी हुई प्रतिमा को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश की सांस्कृतिक धरोहर व पहचान को बनाये रखने के लिए सहरानीय प्रयास कर वापस ले आये। कनाडा से माता अन्नपूर्णा देवी की मूर्ति आने के बाद केंद्र सरकार के द्वारा भव्य यात्रा के तहत वाराणसी पहुंचेगा। आज यह यात्रा देर रात्रि लगभग 2 बजे राम की नगरी पहुची है। और श्रीरामलला के जन्मस्थान पर पूजन अर्चन के बाद विश्राम कराया गया। और दूसरे दिन सुबह 10 बजे यात्रा राम नगरी से विधि विधान पूर्वक पूजन कर रवाना हुआ। ओस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सजी रथ के साथ सुरक्षा व्यवस्था में रवाना हुई है।

अयोध्या शोध संस्थान निदेशक और इस कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉक्टर लवकुश त्रिवेदी ने बताया कि यह अन्नपूर्णा देवी की रथ यात्रा दिल्ली से 11 नवंबर को प्रारंभ हुई है आज तीसरे पड़ाव में अयोध्या पहुंचे है। और अब यहां से यह यात्रा सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, जौनपुर होते हुए वाराणसी पहुंचेगी लक्ष्य की शाम 7 बजे तक जा यात्रा वाराणसी पहुंच जाएगी लेकिन स्थान स्थान पर बड़ी मात्रा में लोग स्वागत करने की तैयारी किए हुए हैं। इसके कारण विलंब होता है। लेकिन उम्मीद है कि देर शाम तक वाराणसी पहुंच जाएंगे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन