कार्तिक पूर्णिमा' की हार्दिक शुभकामनाएं


भगवान विष्णु की कृपा और माँ गंगा के आशीर्वाद से यह पावन पर्व सम्पूर्ण सृष्टि के लिए मंगलकारी बने। सिख धर्म के संस्थापक व समस्त संसार में समानता, सेवाभाव, सत्कर्म का प्रकाश फैलाने वाले सिखों के प्रथम गुरु श्री गुरु नानकदेव जी के 552वें पावन प्रकाश-पर्व की आप सबको कोटि-कोटि बधाइयाँ व हार्दिक शुभकामनाएं।सामाजिक समरसता, सांस्कृतिक एकता व परोपकार की उनकी अलौकिक शिक्षाएं सदैव हमें राष्ट्रहित व जनकल्याण हेतु प्रेरित करती रहेंगी।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

या देवी सर्वभू‍तेषु माँ गौरी रूपेण संस्थिता।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।