यूपी को अपराधियों, दंगों व जातीय उन्माद से बचाने की जरूरत- दिनेश शर्मा

लखनऊ। उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में आज किसी गुन्डे अथवा माफिया की यह  हिम्मत नहीं है कि वह माताओं बहनों की तरफ नजर उठाकर भी देख ले। पिछली सरकारों के समय में माताओं बहनों का असम्मान सामान्य बात थी। आज ऐसा करने की कोई सोंच भी नहीं सकता है। प्रदेश में  मिशन शक्ति के जरिए महिलाओं का सशक्तीकरण हो रहा है। उन्होंने कहा कि आज चुनाव के समय में उत्तर प्रदेश को अपराधियों, साम्प्रदायिक ताकतों, दंगों व जातीय उन्माद की विचारधारा से बचाने की जरूरत है।
 
इस बात की आवश्यकता है कि  नौजवानों के लिए रोजगार सृजित हों, बिजली आए, पानी मिले, उद्योग धंधे सफल हो व पूंजी का निवेश बढे  तथा यह सभी लक्ष्य प्रदेश की वर्तमान सरकार के कार्यकाल में पूरे हुए हैं। डिप्टी सीएम ने कहा कि वर्तमान सरकार ने जब सत्ता संभाली थी तो प्रदेश में बेरोजगारी की दर 17.4 प्रतिशत के पास थी, जो आज साढे चार साल बाद यह  4.1 प्रतिशत है। सत्ता संभालने के समय प्रदेश की अर्थव्यवस्था डगामगाई हुई थी। उस समय की 11 लाख करोड की अर्थव्यवस्था साढे चार साल में बेहतर होकर 22 लाख करोड की हो गई है। किसान की आमदनी बढी है तथा इसे दोगुना करने की दिशा में ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। भाजपा की सरकार ने लोगों के जीवनस्तर में सुधार के लिए काम किया है। राजधानी लखनऊ के विश्वेश्वरैया हाल में आयोजित बंजारा समाज के सामाजिक समरसता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि भारत एवं भारतीय संस्कृति को मानने वाले बंजारा समाज ने मुगलों के दबाव के बावजूद धर्म परिवर्तन नहीं किया।
 
उन्होंने अंग्रेजों के जुल्म सहे पर भारत की संस्कृति से लगाव को कम नहीं होने दिया। इसके चलते अंग्रेज सरकार ने उन पर तमाम क्रिमनल धाराए भी लगाई पर वे देश प्रेम की भावना से नहीं डिगे। यह एक बहादुर जाति है। बंजारा समाज ने भी अंग्रेजों के साथ संघर्ष किया था। इसके बाद यह समाज आगे बढा है। भाजपा समाज के उत्थान और सम्मान के प्रति कटिबद्ध है। सरकार समाज के लोगों को नौकरी, शिक्षा, बैंक से रोजगार के लिए लोन आदि की व्यवस्था की है। डा शर्मा ने कहा कि वर्तमान सरकार ने समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम किया है। साढे चार साल में साढे चार लाख सरकारी नौकरी, 3 लाख 50 हजार से अधिक संविदा कर्मियों की भर्ती, करीब 2 करोड लोगों को ओडीओपी के जरिए रोजगार के अवसर प्रदान कर समाज के सभी वर्गों को रोजगार से जोडने का काम किया है। सरकारी नौकरियों  में अनुसूचित वर्ग समाज को अधिक अवसर मिले हैं। पिछडों और सामान्य वर्ग के लोगों के साथ भी न्याय हुआ है। नौकरी देने के मामले में सरकार ने पर्दाशिता रखी है।
 
  
पहली बार एक ऐसी सरकार आई है जिसमें सभी लोगों के उत्थान के लिए काम हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना,शौचालय का निर्माण, गैस कनेक्शन, किसान सम्मान निधि  जैसी सभी योजनाओं से बंजारा समाज भी लाभान्वित हुआ है। पिछली सरकारों ने गरीबों को बैंक से जोडने के लिए कोई  कदम नहीं उठाए थे। पहली बार प्रधानमंत्री ने ऐसी व्यवस्था की है कि आज गरीब से गरीब व्यक्ति का भी बैंक में खाता खुल सकता है। खाता खुलवाले का  लाभ यह है कि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि शत प्रतिशत उसके खाते में पहुच जाएगी। डा शर्मा ने कहा कि समय के बदलाव के साथ  शिक्षा क्षेत्र में भी क्रान्तिकारी बदलाव आए हैं। आज गरीब के बच्चे  के लिए शुल्क प्रतिपूर्ति की व्यवस्था की गई है। नि:शुल्क शिक्षा  की भी व्यवस्था है। और यह सुविधाए  बंजारा समाज के लिए उपलब्ध भी हैं।सरकार पांच किलो प्रति यूनिट अनाज दे रही है। इसका लाभ भी समाज को मिल  रहा है। वर्तमान सरकार ने प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर बनाया है।
 
कोरोना के समय में अब अमेरिका जैसा देश कराह रहा था तथा अपने लोगों को सुरक्षित नहीं कर पा रहा था उस समय में उत्तर प्रदेश की सरकार ने अपने लोगों को कोरोना से सुरक्षित किया है। मुख्यमंत्री अपने पिता की मृत्यु के बावजूद उन्हें देखने नहीं गए बल्कि लोगों के लिए आक्सीजन, वेन्टीलेटर, दवा आदि की व्यवस्था करवा रहे थे। आज प्रदेश में सवा पांच सौ से अधिक आक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं। आज हर जिले में वेन्टीलेटरयुक्त बेड उपलब्ध हैं। कोरोना पर उत्तर प्रदेश ने विजय प्राप्त की है। कोरोना जैसे संवेदनशील अवसर पर जब लोग घरों में छिपे हुए थे तब भाजपा के कार्यकर्ता लोगों के लिए दवा आदि की व्यवस्था कर रहे थे। बंजारा समाज के गांवों को राजस्व ग्राम घोषित करने  की पहल भाजपा के मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह  ने की थी। इस दिशा में अगर कोई कठिनाई आ रही है तो उसे भी मुख्यमंत्री से वार्ता कर दूर कराया जाएगा। इस समाज को पार्टी ने उचित सम्मान व  प्रतिनिधित्व दिया है।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन