भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री मोदी, इटली की राजधानी रोम पंहुचे

ईसाइयों के सर्वप्रमुख स्थान रोम में जय श्री राम के नारे और शिव तांडव स्त्रोत्तम की गूंज स्पष्ट बताती है भारत का स्नात्तन धर्म पुनः अपना स्थान प्राप्त करेगा। भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री इटली की राजधानी रोम पंहुचे। स्वागत में रोमांचित करने वाला दृश्य। भारतीय मूल के लोगों ने जोर जोर से "जय श्री राम, जय जय श्री राम" के नारे से मोदी का गर्मजोशी से अभिवादन किया।साथ ही प्रसिद्ध शिव तांडव स्त्रोत्तम का सस्वर गान किया।
 
हम सोच सकते हैं कि हे सब क्या इंडीकेट कर रहा है? ये वही देश इटली है जहां से सोनिया आयी हैं और ये वही सोनिया हैं जिनके रबर स्टाम्प प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र दाखिल कर कहा था कि राम और रामायण काल्पनिक हैं। प्रधानमंत्री मोदी जी के रोम में हुए इस गौरवशाली सनातनी स्वागत से सोनिया राहुल प्रियंका को समझ में आ गया होगा कि भारत की सनातनी तस्वीर ही दुनिया के कोने-कोने में बसे हिन्दू देखना चाहते हैं। भारतीय मूल के लोग सेक्युलर नहीं सनातनी दीखना चाहते हैं। मोदी ने जय श्री राम के नारे की गूंज के बीच अपना सर झुकाकर जय श्री राम का नारा खुद भी लगाते रहे।नया भारत है और इस संसार में मोदी के नेतृत्व में श्रेष्ठ भारत की श्रेष्ठ तस्वीर है। आज मोदी ने भारत को जिस ऊंचाई पर पंहुचाया है वह इतिहास का स्वर्णिम क्षण है।
 
भाजपा की रैली में महा की २०२४ में फिर से मोदी को लाना है तो २०२२ में योगी को प्रबल बहुमत से जिताइये।एक प्रकार से उन्होंने मोदी और योगी को राम कृष्ण की जोड़ी बताया। उनके भाषण से लगा कि राम के नाम पर भाजपा चुनाव लड़ेगी। पहले लोग व्यंग्य करते थे कि मंदिर वहीं बनायर्नगे पर तारीख नहीं बताएंगे। अर्थात ऐसे लोग लोगों को भड़काते थे कि भाजपा सिर्फ राम के नाम पर वोट लेगी मंदिर कभी नहीं बनवाएगी। अमित शाह ने रैली में हुंकार भरी कि मोदी आये, योगी आये, और राम मंदिर बनना प्रारम्भ हो गया। अब तो लोगों को यह भी पता हो गया है कि मंदिर कब बनकर पूरी तरह तैयार हो जाएगा? गृहमन्त्री ने कहा कि मोदी सरकार आयी २०१४ में और पूरा दृश्य ही बदल गया। योगी के राज्य में दूर दूर तक एक भी मेफ़िया दिखायी नहीं पड़ता है।
 
अब यजी की बेटियां मध्यरात्रि में भी बेधड़क स्कूटर से अपने घाट आना जाना करती हैं। अमित शाह ने खुलकर यूपी में १५ वर्षों के सपा ओर बसपा के गुंडा राज की याद दिलायी। कहा अब तल योगी आदित्यनाथ की भांजपा सरकार ने यूपी का पूरा परिदृश्य ही बदल दिया है। अमित शाह जब भाजपा के प्रभारी बनकर यू पी आये उसके बाद ही यू पी भाजपामय हुआ पहली बार २०१४ के लोकसभा चुनाव में। फिर तो २०१७ में मोदी नाम पर भाजपा की सरकार यू पी में बनी और २०१९ के लोकसभा चुनाव में सभी आशंकाओं को दूर करते हुए मोदी योगी ने जीत दिला ही दी। शाह ने रैली में पुनः घोषणा कर दी कि का यू पी विधानसभा चुनाव योगी के चेहरे ऑर नेतृत्व में लड़ा जायेगा। हम सब २०२२ और २०२४ भी प्रबलतम बहुमत से जीतेंगे।

Popular posts from this blog

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन