माह नवंबर, 21 में गत् वर्ष के माह नवंबर, 20 की तुलना में 10,903.87करोड़ रू0 अधिक राजस्व हुआ प्राप्त

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री, सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि मुख्य कर-करेत्तर राजस्व वाले मदों में वित्तीय वर्ष 2021-22 के नवंबर माह में 15389.83 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष कुल 12962.20 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ, जो माह नवंबर 2021 में निर्धारित लक्ष्य का 84.20 प्रतिशत है, जबकि वर्ष 2020-21 के नवंबर माह में 10903.87 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त हुआ था। इस प्रकार माह नवंबर, 2021 में गत् वर्ष के माह नवंबर, 2020 की तुलना में 2058.33 करोड़ रू0 अधिक राजस्व प्राप्त हुआ।

उन्होंने बताया कि जी0एस0टी0 के अन्तर्गत माह नवंबर, 2021 में कुल 4583.22 करोड़ रू0 की राजस्व प्राप्ति हुई, जबकि गत् वर्ष नवंबर, 2020 के माह में प्राप्ति 3712.69 करोड़ रू0 थी। वैट के अन्तर्गत माह नवंबर, 2021 में 2651.27 करोड़ रू0 की राजस्व प्राप्ति हुई, जबकि गत् वर्ष माह नवंबर, 2020 में प्राप्ति 2147.54 करोड़ रू0 थी। उत्तर प्रदेश के वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज प्रदेश के वित्तीय वर्ष 2021-22 के कर-करेत्तर राजस्व की प्राप्ति पर अपने कार्यालय कक्ष में प्रेस प्रतिनिधियों से वार्ता करते हुए बताया कि आबकारी के मद में माह नवंबर, 2021 में कुल 3101.57 करोड़ रू0 की राजस्व प्राप्ति हुई, जबकि गत् वर्ष माह नवंबर, 2020 में प्राप्ति 2464.78 करोड़ रू0 थी। स्टाम्प तथा निबन्धन के अन्तर्गत माह नवंबर, 2021 की राजस्व प्राप्ति 1620.65 करोड़ रू0 है जबकि गत् वर्ष माह नवंबर, 2020 में प्राप्ति 1628.00 करोड़ रू0 थी।

परिवहन के अन्तर्गत माह नवंबर, 2021 की राजस्व प्राप्ति 764.60 करोड़ रू0 है जबकि गत् वर्ष माह नवंबर, 2020 में प्राप्ति 697.71 करोड़ रू0 थी। करेत्तर राजस्व की प्रमुख मद भू-तत्व तथा खनिकर्म के अन्तर्गत माह नवंबर, 2021 में प्राप्ति 240.89 करोड़ रू0 है जबकि गत् वर्ष माह नवंबर, 2020 में प्राप्ति 253.15 करोड़ रू0 थी। सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में नवंबर 2021 तक मुख्य कर राजस्व के अन्तर्गत 119212.08 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 90411.55 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है, जो लक्ष्य का 75.8 प्रतिशत है। वित्तीय वर्ष 2021-22 में नवंबर, 2021 तक कुल करेत्तर राजस्व प्राप्ति के मदों में 16415.09 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 5148.66 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। कर राजस्व की मद जी0एस0टी0 एवं वैट में नवंबर, 2021 तक 65632.70 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 50944.12 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है जो लक्ष्य का 77.60 प्रतिशत है।

उन्होंने बताया कि वैट के मद में 17707.77 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 16938.74 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है जो 95.70 प्रतिशत है। वित्त मंत्री ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के माह नवंबर तक आबकारी मद में लक्ष्य 26916.00 करोड़ रूपये के सापेक्ष 21896.08 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है जो माह नवंबर तक निर्धारित लक्ष्य का 81.30 प्रतिशत है। स्टाम्प तथा निबन्धन के मद में 16785.00 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 12784.85 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। उन्होंने बताया कि परिवहन के मद में वित्तीय वर्ष 2021-22 में नवंबर तक 6194.38 करोड़ रूपये लक्ष्य के सापेक्ष 4445.68 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई है। खन्ना ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि नए वायरस ओमीक्रोन के संबंध में भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि भय किसी भी समस्या का हल नहीं है, इसलिए ना तो भयभीत हों और न ही भय फैलाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोनावायरस को नियंत्रित करने में प्रभावी कदम उठाया और उसमें सफलता भी मिली।

इस दिशा में डब्ल्यूएचओ, नीति आयोग तथा प्रधानमंत्री के द्वारा भी उत्तर प्रदेश के मॉडल को सराहना की गई। हमने बेहतर तरीके से काम किया और इसीलिए हमारा पॉजिटिविटी की रेट और फेटिलिटी रेट अपेक्षाकृत कम रहा। इस दिशा में सरकार द्वार पूरी शिद्दत के साथ पूरे मनोयोग से प्रयास किया गया। उन्होंने कहा कि ओमीक्रोन को देखते हुए हमारे पास सभी प्रकार की तैयारी है। एसजीपीजीआई, डॉक्टर राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान तथा केजीएमयू में जीनोम सीक्वेंसिंग की व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोनावायरस का यह वैरीएंट डेल्टा वैरीएंट से कम खतरनाक है, इसलिए किसी प्रकार के पैनिक क्रिएट करने की आवश्यकता नहीं है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आॅनलाईन ट्रांसफर सिस्टम विकसित किये जाने की प्रगति की समीक्षा बैठक की गई संपन्न

एकेटीयू में ऑफलाइन परीक्षा को ऑनलाइन कराए जाने के संबंध में कुलपति को सौंपा गया ज्ञापन