भव्य काशी के स्वप्न को चरितार्थ करने की बात न तो सपा सोच सकती थी और न ही बसपा- अनुराग ठाकुर

लखनऊ केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश चुनाव सह प्रभारी अनुराग ठाकुर ने मंगलवार को अपने एक बयान में कहा कि दिव्य और भव्य काशी के स्वप्न को चरितार्थ करने की बात न तो सपा ही सोच सकती थी और न ही बसपा। भारत के गौरव को पुनर्प्रतिष्ठित करने के इस संकल्प के बारे में विचार और उस पर सफलता पूर्वक पूरा करने काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ही किया है।
 
उन्होंने कहा कि काशी की भव्यता को और अधिक बढ़ाने वाले बाबा विश्वनाथ धाम के नए रूप को देखकर ही ये लोग घबराए हुए हैं। इस दिव्यता और भव्यता से घबराकर अनर्गल प्रलाप करने वालों की कुत्सित सोच अब सबके सामने आ रही है। अखिलेश यादव का बयान उनकी सोच और उनके संस्कारों को दिखाता है। ना कोई भाषा थी, ना कोई मर्यादा यह दिखाता है कि बौखलाहट सपा और उनके नेताओं में कितनी है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को बयान देने से पहले सोचना चाहिए था कि किसके बारे में और किन शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं अपने से बड़ों के बारे में ऐसे शब्दों का प्रयोग करना यह दुर्भाग्यपूर्ण है और यह दिखाता है कि कैसे यह काशी का विरोध करते रहे हैं और राम मंदिर का विरोध करते रहे हैं।
 
इनकी सोच में कहीं ना कहीं यह साफ दिखता है। उन्होंने कहा कि इतने हल्के बयान की शायद ही किसी पूर्व मुख्यमंत्री से किसी ने कभी अपेक्षा की थी। प्रधानमंत्री के लिए उनके शब्दों का चयन बड़ों के प्रति उनकी सोच को दर्शाता है। उनका बयान बहुत ही हल्का और दुर्भाग्यपूर्ण है, यह उनकी सोच और संस्कारों का प्रतिबिंब है”। आज निजी तौर पर मुझे मुलायम सिंह के लिए कष्ट हो रहा है, कि जैसा दुर्व्यवहार अखिलेश उनके साथ लगातार करते आये हैं उसे ही उन्होंने अपने आचरण का हिस्सा बना लिया है।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर