रोजगार मांगने पर नौजवानों को पीटने वाली भाजपा सरकार के बचे हैं गिने-चुने दिन- अंशु अवस्थी


लखनऊ। नौजवानों से झूठे वादे कर सत्ता में आने वाली भाजपा सरकार ने अपना चरित्र बार-बार दिखाया है उसे नौजवानों से कोई मतलब नहीं, कोई लेना-देना नहीं कोई भविष्य की चिंता नहीं प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ती जा रही है नौजवान पीड़ित है उसे चिंता है अपने भविष्य की, भाजपा ने सरकार में 70 लाख रोजगार देने की बात करने वाले सिर्फ और सिर्फ धोखा देते रहे।

मजबूरन नौजवान को सड़क पर निकलना पड़ रहा रोजगार के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है और सरकार नौकरी तो नहीं दे पा रही उल्टा उनको पिटवा रहे हैं, 69000 शिक्षक अभ्यर्थियों युवाओं और युवतियों पर जिस बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया गया यह दिखाता है कि यह सरकार लोकतंत्र में तानाशाही लागू करना चाहती है युवा की आवाज सुनना नहीं चाहती एक भी भर्ती सफल नहीं कर पाए और वादा किया था कि सरकार बनते ही 100 दिन के अंदर सभी विभागों के रिक्त पदों की विज्ञप्ति जारी करेंगे लेकिन सिर्फ भाषण चलते रहे और नौजवान सड़क पर संघर्ष करता रहा।

मुख्यमंत्री कहते हैं कि नौकरियां हैं योग्य नौजवान नहीं है , मंत्री धर्मवीर सिंह सैनी कहते हैं कि सरकारी नौकरियों में नौजवान हरामखोरी के लिए आते हैं, यह दर्शाता है कि भाजपा सरकार के बिना परिवार वाले मुख्यमंत्री परिवारों का दर्द नहीं समझते, वह नौजवानों के मां-बाप का दर्द नहीं जानते, एक भी नौकरी का पेपर सुरक्षित नहीं करा पाए 17 से ज्यादा पेपर लीक हो गए और मुख्यमंत्री सिर्फ भाषण देते रहे भाजपा सरकार के गिने-चुने दिन बचे हैं यही नौजवान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ को सत्ता से बाहर कर उनके अहंकार को चूर कर सबक सिखाने का काम करेगा।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर