प्रियंका गांधी से प्रभावित दूसरे दलों के तमाम नेता कांग्रेस में

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजनीति में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा का हस्तक्षेप रंग दिखाने लगा है। तमाम पार्टियों के वरिष्ठ नेता कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं। हाल ही में मुगलसराय से चार बार के बीजेपी विधायक छब्बू पटेल और आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव रविंद्र मणि वर्मा समेत दर्जनों नेता कांग्रेस में शामिल हुए हैं।

यह जानकारी देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता संजय सिंह ने बताया कि महिलाओं के लिए अलग घोषणापत्र जारी करके प्रियंका गांधी ने कांग्रेस की ओर से चुनावी राजनीति में एक बड़ी लकीर खींच दी है जिसने पूरे देश का ध्यान खींचा है। उत्तर प्रदेश में सभी दूसरे दलों के नेता प्रियंका गांधी के नेतृत्व में यूपी की तस्वीर बदलने के लिए जुटने लगे हैं। इसी का नतीजा है कि बीजेपी के कद्दावर नेता और मुगलसराय से चार बार के विधायक छब्बू पटेल ने कांग्रेस का तिरंगा थाम लिया है। साथ ही आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव रविंद्र मणि वर्मा और फतेहपुर से उसके घोषित प्रत्याशी अनूप सचान भी कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। हरदोई में आम  आदमी पार्टी के घोषित प्रत्याशी राजवर्धन सिंह राजू भी कांग्रेस में शामिल हो गये हैं।

इसके अलावा समाजवादी पार्टी की नेता और समाजवादी महिला सभा की राष्ट्रीय सचिव कुसुम शर्मा, पूर्व विधायक शौकत अली के बेटे चौधरी इमरान अली, लखनऊ की एकेडमिशियन डॉ.सुधा मिश्र, भारत सरकार के हैंडलूम बोर्ड की सदस्य और महोबा निवासी पं.नेहा चंसौरिया, राठ की समाजसेविका अर्चना अनुरागी और प्रयागराज में इविंग क्रिश्चियन कॉलेज के प्रवक्ता विनोद कुमार पांडेय ने भी कांग्रेस की सदस्यता लेकर प्रियंका गांधी की प्रतिज्ञाओ को घर-घर पहुंचाने का संकल्प लिया है। कांग्रेस प्रवक्ता संजय सिंह ने बताया कि हरदोई में बीजेपी के तमाम नेताओं ने कांग्रेस का दामन थामा है। हरदोई में बीजेपी के जिला महामंत्री अखिलेश कुशवाहा, बीजेपी मंडल अध्यक्ष दिनेश पाल, मंडल महामंत्री अशोक कुमार, पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेमलता कुशवाहा, मंडल महामंत्री अजय कनौजिया, पूर्व मेजर रामअभिलाष शर्मा, विद्यालय प्रबंधक अरविंद यादव, बूथ अध्यक्ष उमेश शुक्ला, पूजा शर्मा समेत कई पूर्व प्रधान और पूर्व बीडीसी सदस्य बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए हैं।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर