विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी ने दिव्यांगजनों को वितरित की ट्राईसाइकिल

श्रावस्ती। विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी नेहा प्रकाश ने कलेक्टेªट कैम्पस में 06 दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण/ट्राइसाईकिल प्रदान किया। इस अवसर जिलाधिकारी ने कहा कि दिव्यांगों को विशेष सम्मान सरकार द्वारा दिया जा रहा है। उनके अन्दर आत्मविश्वास का संचार हुआ है, इसीलिए जीवन के हर क्षेत्र में उनकी भागेदारी बढ़ी है। 
 
उन्होंने कहा कि विकलांगता कोई कमजोरी नही है, इसका सबसे बड़ा उदाहरण अरूणिमा सिन्हा और सुधा चन्द्रम जैसे महिलाओं के उदाहरण से देखा जा सकता है, जिन्होंने अपनी मानसिक मजबूती के बल पर उन दुर्बल लक्ष्यों को प्राप्त किया जिनको प्राप्त करना किसी भी रूप में प्राप्त करना आसान नही था। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 के अवसर पर दिव्यांगजन अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें तथा पास-पड़ोस के लोगों को मतदान के लिए भी प्रोत्साहित करें। सभी दिव्यांगजन अपना यूडीआईडी कार्ड अवश्य बनवा ले, जिससे उन्हें सरकार द्वारा चल रही समस्त योजनाओं का लाभ मिल सके। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर कहा कि दिव्यांग मतदाता अवश्य वोट करे, अपने वोट का मूल्य समझे, एक-एक वोट से ही प्रजा तन्त्र मजबूत होता है।
 
इस अवसर पर जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी चमनसिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी राकेश रमन सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण व लाभार्थीगण आदि उपस्थित रहे। कलेक्ट्रेट कैम्पस में ही अपर जिलाधिकारी कमलेश चन्द्र ने भी दिव्यांगजनों को ट्राईसाईकिल प्रदान किया। विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर जिला विकास अधिकारी विनय कुमार तिवारी ने पांच श्रवण बाधित दिव्यांग बच्चों को कान की मशीन प्रदान की। बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा जूनियर हाई स्कूल भिनगा में दिव्यांग बच्चों की खेल-कूद स्पर्धा आयोजित की गई।

Popular posts from this blog

स्वस्थ जीवन मंत्र : चैते गुड़ बैसाखे तेल, जेठ में पंथ आषाढ़ में बेल

त्वमेव माता च पिता त्वमेव,त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव!

राष्ट्रीयता और नागरिकता में अंतर